सामग्री पर जाएँ

कुल्ला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
पावेल ओटडेलनोव गरारे करते हुए

मुंह में तरल (जैसे पानी) बुदबुदाने की क्रिया को कुल्ला करना या गरारे करना (Gargling) कहते हैं। इस क्रिया में मुख गुहा और गले की धुलाई भी हो जाती है। कुल्ला करने के लिए तरल को मुह के अन्दर लेकर इसको मुह की मांसपेशियों की सहायता से कुछ देर तक घुमाते रहते हैं।

कभी-कभी गले में खराश को शांत करने के लिए का एक पारंपरिक घरेलू उपाय सुझाया जाता है - गर्म खारे पानी से गरारे करना। [1]

जापान में किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि दिन में कुछ बार पानी से गरारे करने से ऊपरी श्वसन संक्रमण ( जैसे सर्दी ) की संभावना कम हो जाती है, हालांकि कुछ चिकित्सकों को इस पर विश्वास नहीं होता। [2]

सन्दर्भ

[संपादित करें]
  1. Chris C. Anderson (2018). "Does Gargling With Salt Water Ease a Sore Throat?". WebMD.
  2. Boyles, Salynn (2005-10-19). "Does Gargling With Water Prevent Colds?". WebMD. अभिगमन तिथि 2015-04-30.