कुण्डलपुर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कुण्डलपुर राजगृही के पास नालंदा स्टेशन से 3 मील दूरी पर है। यह भगवान महावीर का जन्म स्थान माना जाता है। यहां पर लगभग ३०० वर्ष पुराना दिगम्बर जैन मंदिर भगवान महावीर के जन्म का प्राचीन कथानक कह रहा है । पुन: सन् २००१-२००२ में जैन समाज जी सर्वोच्च साध्वी पूज्य गणिनीप्रमुख आर्यिकाशिरोमणि श्री ज्ञानमती माताजी अपने संघ के साथ कुण्डलपुर गईं और वहाँ पर नंद्यावर्त नामक महल का निर्माण करवा कर उसके प्राचीन इतिहास को पुनरुज्जीवित किया । वर्तमान में उस नंद्यावर्त महल तीर्थ का दर्शन करने लाखों नर-नारी जाते हैं और बिहार सरकार के द्वारा हर साल चैत्र शुक्ला त्रयोदशी- महावीर जन्मजयन्ती के अवसर पर कुण्डलपुर महोत्सव आयोजित किया जाता है ।