किशन कन्हैया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
किशन कन्हैया
किशन कन्हैया.jpg
किशन कन्हैया का पोस्टर
निर्देशक राकेश रोशन
निर्माता राकेश रोशन
अभिनेता अनिल कपूर,
माधुरी दीक्षित,
अमरीश पुरी,
शिल्पा शिरोडकर
संगीतकार राजेश रोशन
प्रदर्शन तिथि(याँ) 9 मार्च, 1990
देश भारत
भाषा हिन्दी

किशन कन्हैया 1990 में बनी हिन्दी भाषा की हास्य एक्शन फिल्म है। इसका निर्देशन राकेश रोशन ने किया है और अनिल कपूर, माधुरी दीक्षित और शिल्पा शिरोडकर मुख्य भूमिकाओं मे हैं। फिल्म की कहानी दिलीप कुमार की राम और श्याम से मिलती है।

संक्षेप[संपादित करें]

लीला और भोलाराम बेऔलाद होते हैं। लीला दाई का काम करती है। एक दिन सुंदरलाल की बीवी दो बच्चों को जन्म देती है, जिसका दाई का काम लीला करती है। लीला बच्चे की चाह में एक बच्चे को ले कर सुंदरलाल को बोल देती है कि उसने एक ही बच्चे को जन्म दिया है। उसकी बीवी बच्चे को जन्म देने के बाद ही मर जाती है।

लीला और भोलाराम मिल कर कन्हैया (अनिल कपूर) का लालन-पालन करते हैं, वहीं सुंदरलाल को अकेले किशन को पालने में परेशानी हो रही थी। इस कारण वो कामिनी से शादी कर लेता है। कामिनी अपने भाई गेंदामल के साथ उसी के घर रहने लगती है। उसका महेश नाम के एक अन्य व्यक्ति से एक नाजायज बच्चा होता है, जिसका पता जब सुंदरलाल को चलता है तो वे लोग उस पर हमला कर देते हैं और उसे लकवा हो जाता है। किशन का जन्म कामिनी और गेंदामल के अत्याचार सहते-सहते होता है। वो पढ़ा-लिखा नहीं होता है, इस कारण उसे जिस कागज पर भी अँगूठा लगाने बोल देते हैं, उस पर वो अँगूठा लगा देता था।

कन्हैया (अनिल कपूर) फिल्में देखने के लिए पागल रहता है। उसकी मुलाकात उसी के समान फिल्मों की पागल एक लड़की, अंजू (माधुरी दीक्षित) से होती है। दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं।

उन दोनों भाइयों को एक अदृश्य डोर जोड़े रखता है। जब भी किसी भाई को दर्द होता है, तो दूसरे को भी दर्द का एहसास हो जाता है। किशन को राधा नाम की नौकरानी से प्यार हो जाता है और शादी भी हो जाती है। महेश को गेंदामल कहता है कि जैसे ही किशन जायदाद के कागजातों पर अँगूठा लगा देता है, वैसे ही उसे मार देना। वहीं उसी समय कन्हैया को अपना अतीत पता चल जाता है और वो वापस अपने घर आ जाता है। सभी किशन के बर्ताव में अजीब से बदलाव देख कर हैरान रह जाते हैं। अंत में सभी भ्रम दूर हो जाते हैं। किशन और कन्हैया मिल कर सभी बुरे लोगों से लड़ते हैं और जीत जाते हैं।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी राजेश रोशन द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."आप को देख के"अनवर सागरअमित कुमार, साधना सरगम6:46
2."कृष्णा कृष्णा आए कृष्णा"इंदीवरनितिन मुकेश, लता मंगेशकर7:32
3."कुछ हो गया क्या हो गया"इंदीवरआशा भोंसले, मोहम्मद अज़ीज़5:36
4."मेरे हमसफर"इंदीवरसाधना सरगम5:42
5."राधा बिना है किशन अकेला"इंदीवरमनहर उधास, साधना सरगम6:14
6."सूट बूट में आया कन्हैया"इंदीवरअमित कुमार5:33

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]