काल भैरव मन्दिर, वाराणसी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
काल भैरव मन्दिर
स्थान
देश: Flag of India.svg भारत
राज्य: उत्तर प्रदेश
जिला: वाराणसी
स्थिति: विश्वेश्वरगंज, वाराणसी
ऊंचाई: 80.985[1] मी॰ (266 फीट)
निर्देशांक: 25°19′04″N 82°58′26″E / 25.317645°N 82.973914°E / 25.317645; 82.973914निर्देशांक: 25°19′04″N 82°58′26″E / 25.317645°N 82.973914°E / 25.317645; 82.973914

काशी का काल भैरव मन्दिर वाराणसी कैन्ट से लगभग ३ कि० मी० पर शहर के उत्तरी भाग में स्थित है। यह मन्दिर काशीखण्ड में उल्लिखित पुरातन मन्दिरों में से एक है। इस मन्दिर की पौराणिक मान्यता यह है, कि बाबा विश्वनाथ ने काल भैरव जी को काशी का क्षेत्रपाल नियुक्त किया था। काल भैरव जी को काशीवासियो के दंड देने का अधिकार है।

यहाँ रविवार एवं मंगलवार को अपार भीड़ आती है। आरती के समय नगाड़े, घंटा, डमरू की ध्वनि बहुत ही मनमोहक लगती है। यहाँ बाबा को प्रसाद में बड़ा, शराब पान का विशेष महत्व है। यहाँ विषेश रूप से भूत-पिशाचादि के उपचार हेतु लोग आते हैं, तथा बाबा की कृपा से ठीक हो जाते हैं। यहाँ बालकों को काले धागे ( गंडा ) दिया जाता है, जिससे बच्चे भय-मुक्त हो जाते हैं। काशी में ऐसी मान्यता है, कि कोई भी प्राणी को मृत्यु से पूर्व यम यातना के रूप में बाबा काल भैरव के सोटे की यातना का सामना करना होता है,हाँ परन्तु मान्यता यह भी है,कि केदार खंड काशी बासी को भैरव यातना भी नहीं भोगनी पड़ती है।

  1. "Elevation". Elevation finder. मूल से 26 जून 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 Jun 2015.