कालसर्पयोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भारतीय फलित ज्योतिष के अनुसार कुण्डली में राहु और केतु के संदर्भ में अन्य ग्रहों की स्थितियों के अनुसार व्यक्ति को कालसर्प योग लगता है। कालसर्प योग को अत्यंत अशुभ योग माना गया है। ज्‍योतिष की प्राचीन पुस्‍तकों में कहीं भी कालसर्प योग का उल्‍लेख नहीं मिलता है। कुछ पुस्‍तकें सर्प योग के बारे में बताती हैं, लेकिन वह भी जातक कुण्‍डली के बजाय मण्‍डेन से संबंधित परिणाम देने वाला ही बताया गया है।

बाहरी कडि़यां[संपादित करें]

कालसर्प योग : एक सफल झूठ