कालसर्पयोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

भारतीय फलित ज्योतिष के अनुसार कुण्डली में राहु और केतु के संदर्भ में अन्य ग्रहों की स्थितियों के अनुसार व्यक्ति को कालसर्प योग लगता है। कालसर्प योग को अत्यंत अशुभ योग माना गया है। ज्‍योतिष की प्राचीन पुस्‍तकों में कहीं भी कालसर्प योग का उल्‍लेख नहीं मिलता है। कुछ पुस्‍तकें सर्प योग के बारे में बताती हैं, लेकिन वह भी जातक कुण्‍डली के बजाय मण्‍डेन से संबंधित परिणाम देने वाला ही बताया गया है।

बाहरी कडि़यां[संपादित करें]

कालसर्प योग : एक सफल झूठ