कार्ले की गुफा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कार्ले की गुफाएँ महाराष्ट्र में लोनावाला के निकट कार्ली में स्थित हैं। ये चट्टान काटकर निर्मित प्राचीन बौद्ध मन्दिर हैं। यहां पर एक भव्य चैत्यग्रह तथा तीन विहार है। यह चैत्यग्रह सबसे बड़ा और सबसे सुरक्षित दशा में है। यह मुख्य द्वार से पीछे के द्वार तक १२४ फुट ३ इंच लम्बा, ४५ फुट ५ इंच चौड़ा तथा ४६ फुट ऊंचा है। इसके सामने का भाग दुमंजिला है। ऊपरी मंजिल में प्रकाश के लिए बड़ा वातायन तथा निचली मंजिल में तीन द्वार है। कार्ले की गुफाओं में स्तंभों पर बुद्ध की मूर्तियां भी है और ब्राम्ही लिपि मे लेख भी उत्कीर्ण है, 1 अभिलेख के अनुसार, कार्ले चैत्य का निर्माण पुष्पदत्त ने करवाया,,वही पूर्णता पर पहुचाने का काम सातवाहनों ने किया। इसमे 200 ई.पू. की तारीखे है।इनका निर्माण 80 ई.पू. कर लिया गया था ।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]