कार्बनिक अभिक्रियाएँ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कार्बिल ऐमीन अभिक्रिया- KOH की उपस्थिति में प्राथमिक ऐमिन क्लोरोफॉर्म से क्रिया कर ऐलकिल आइसोसाइनाइड बनाती है।

बुर्टज अभिक्रिया-जब अलकिल हैलाइड की अभिक्रिया सोडियम के साथ शुष्क ईथर की उपस्थिति में करते हैं,तो अल्केन(alken) बनता है।

RI+2Na+IR=R-R+2Nal