कल्याण कुमार चक्रवर्ती

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कल्याण कुमार चक्रवर्ती
जन्म 2 सितम्बर 1947 (1947-09-02) (आयु 72)
पश्चिम बंगाल
राष्ट्रीयता भारतीय
अन्य नाम के के चक्रवर्ती
शिक्षा प्राप्त की प्रेसिडेन्सी विश्वविद्यालय, कोलकाता, कलकत्ता विश्वविद्यालय, हारवर्ड विश्वविद्यालय
व्यवसाय भारतीय प्रशासनिक सेवा (सेवानिवृत्त), कला इतिहासकार & शिक्षाविद
जीवनसाथी मिनती चक्रवर्ती

कल्याण कुमार चक्रवर्ती (बंगाली: কল্যাণ কুমার চক্রবর্তী, अंग्रेजी: Kalyan Kumar Chakravarty) (जन्म २ सितंबर, १९४७) एक भारतीय इतिहासकार, कला इतिहासकार, लेखक, मानवविज्ञानी, शिक्षाविद और सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी है।

यह अपने अंतर-सांस्कृतिक और पार अनुशासनिक अनुसंधान के लिए जाने जाते है। साथ ही यह १९७० बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के एक सेवानिवृत्त अधिकारी जिन्होंने २००७ में (सेवानिवृति) ली। उन्हें २०१३ में भारत की संघीय ललित कला अकादमी के अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।

कल्याण कुमार चक्रवर्ती ने पुरातत्व, रॉक कला, कला इतिहास, जनजातीय मुद्दों, संग्रहालय, सार्वजनिक नीति, धर्म और कला के दर्शन पर महत्वपूर्ण किताबें लिखी हैं।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

कल्याण कुमार चक्रवर्ती का जन्म एक भारतीय बंगाली हिंदू परिवार में पश्चिम बंगाल में साल १९४७ को २ सितंबर को हुआ था। इनके पिता हीरालाल चक्रवर्ती जो कि एक इतिहासकार अकादमिक और सिविल सर्वेंट थे। उनका परिवार मुख्य रूप से बिक्रमपुर से आया हुआ था जो कि अब बांग्लादेश में है।

शिक्षा[संपादित करें]

चक्रवर्ती ने लिबरल आर्ट में दिल्ली गवर्नमेंट हाई स्कूल कोलकाता से शिक्षा ग्रहण की। वहीं उन्होंने स्नातकोत्तर की शिक्षा इतिहास में प्रेसिडेंशी यूनिवर्सिटी कोलकाता से १९६६ में प्राप्त की तो मॉडर्न हिस्ट्री में पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री कलकत्ता विश्वविद्यालय से वर्ष १९६८ में की थी। इसके बाद यह १९७० में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में शामिल हो गए थे जो २००७ में सेवानिवृत्त हुए।

करियर[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]