कर्मनाशा नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कर्मनाशा नदी
Karmanasa River
कर्मनाशा नदी की बिहार के मानचित्र पर अवस्थिति
कर्मनाशा नदी
बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा पर कर्मनाशा नदी
स्थान
देश  भारत
राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार
भौतिक लक्षण
नदीशीर्ष 
 • स्थानसरोदाग, कैमूर ज़िला, बिहार
 • ऊँचाई350 मी॰ (1,150 फीट)
नदीमुख गंगा नदी
 • स्थान
चौसा,बक्सर ज़िला, बिहार
 • निर्देशांक
25°30′54″N 83°52′30″E / 25.51500°N 83.87500°E / 25.51500; 83.87500निर्देशांक: 25°30′54″N 83°52′30″E / 25.51500°N 83.87500°E / 25.51500; 83.87500
लम्बाई 192 कि॰मी॰ (119 मील)
जलसम्भर लक्षण

कर्मनाशा नदी (Karmanasa River) भारत के बिहार और उत्तर प्रदेश राज्यों में बहने वाली एक नदी है। यह गंगा नदी की एक उपनदी है। इसकी उत्पत्ति बिहार के कैमूर ज़िले में होती है और फिर यह बहते हुए बिहार व उत्तर प्रदेश की सीमा निर्धारित करती है। इसकी बाई (पश्चिमी) ओर उत्तर प्रदेश के सोनभद्र, चन्दौली, वाराणसी और गाज़ीपुर ज़िले हैं, जबकि दाई (पूर्वी) ओर बिहार के कैमूर और बक्सर हैं। नदी की कुल लम्बाई 192 किमी है और इसके जलसम्भर क्षेत्र में 11,709 वर्ग किमी आता है। उत्तर प्रदेश के गाज़ीपुर ज़िले के बाड़ा गाँव और बिहार के बक्सर ज़िले के चौसा गाँव के समीप यह गंगा में विलय हो जाती है।[1][2][3][4]

विवरण[संपादित करें]

कर्मनाशा नदी पर राज दरी देव दरी जलप्रपात है, जिसकी ऊँचाई ५८ मी है। इसका मिथकीय इतिहास भी है। कहते हैं त्रिशंकु के स्शरीर स्वर्गारोहण की कथा से संबंधित है।इस नदी के किनारे उत्तर प्रदेश के चन्दौली जिला के चाकिया तहसील के पीतपूर मेें महान सन्त बनवारीदास की समाधी है जो 12 वीं सदी के महान समाज सुधारक थे। इस नदी पर उत्तर प्रदेश में कई बांध हैं। मूसाखाड सबसे बडा बांध है।इसी नदी के किनारे नौगढ का किला चन्द्रकान्ता गेस्ट हाऊस भी है तथा पूर्व बनारस स्टेट के अनेक निर्माण मौजुद हैंं जो काफी रोमान्चक व ईतिहास से भरे हैंं।

यह नदी बिहार और उत्तर प्रदेश को विभाजित करती है। इस नदी के किनारे बाबा लतीफ साह व बाबा बनवारी दास के समाधि स्थल पर भगवान श्री कृष्ण के बरही के उपलक्ष में ऋषि पंचमी के दिन जनपद चंदौली के तहसील चकिया अंतर्गत ग्राम पीतपुर में तीन दिवसीय बड़े मेले का आयोजन होता है तथा सितंबर माह के 6 व 7 सितंबर को बड़े हर्ष उल्लास के साथ बाबा बनवारी दास का वार्षिक सिंगार भी होता है

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "RASHTRIYA SAM VIKASH YOJANA - Revised District Plan" (PDF). Rivers. District administration. मूल (PDF) से 10 April 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-05-05.
  2. "Chandauli". Chandauli district administration. अभिगमन तिथि 2010-05-05.
  3. Misra, Virendra N.; Bellwood, Peter S. (1985). Recent advances in Indo-Pacific prehistory: proceedings of the international .. By Virendra N. Misra, Peter Bellwood. p. 473. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9004075127. अभिगमन तिथि 2010-05-05.
  4. "Ghazipur". Ghazipur district administration. अभिगमन तिथि 2010-05-05.