करुणारत्न अबेसेकर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

करुणारत्न अबेसेकर (1930–1983) श्री लंका के सबसे प्रसिद्ध सिंहल प्रसारक (ब्रॉडकास्टर) थे। वे एक गणमान्य कवि तथा गीतकार भी थे। वे सिंहल भाषा पर मजबूत पकड़ के लिये जाने जाते थे।

अबेसेकर ने लगभग २ हजार गीतों की रचना की जो श्री लंका के किसी गीतकार के लिये एक कीर्तिमान है। उनके लिखे गीत श्री लंका ब्राडकास्टिंग निगम द्वारा नियमित रूप से प्रसारित किये जाते हैं।