कम्प्यूटर सहाय्यित इंजीनियरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एक त्रिवीमीय (3D) पिण्ड का अरैखिक स्थैतिक विश्लेषण। यह पिण्ड प्लास्टिक विकृति की स्थिति में आ चुका है।

इंजीनियरी के विश्लेषण के कार्यों में कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर का उपयोग करना कम्प्यूटर सहाय्यित इंजीनियरी (Computer-aided engineering (CAE)) कहलाता है। इसके अन्तर्गत फाइनाइट एलिमेन्ट विधि (FEA), अभिकलनीय तरल यांत्रिकी (CFD), बहुपिण्ड गतिकी (MBD), टिकाउपन (durability) और इष्टतमीकरण (optimization) आदि आते हैं। कम्प्यूटर सहाय्यित इंजीनियरी के अन्तर्गत कम्प्यूटर सहाय्यित डिजाइन (CAD) और कम्प्यूटर सहाय्यित निर्माण (CAM) आते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]