कंवरपाल गुर्जर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
कंवरपाल गुर्जर
[[File:‎|250px|upright=1]]
कंवरपाल गुर्जर

13th हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष
पदस्थ
कार्यालय ग्रहण 
3 नवम्बर 2014
राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी
पूर्वा धिकारी कुलदीप शर्मा
चुनाव-क्षेत्र जगाधरी (Member of Legislative Assembly)

जन्म 8 मई 1960 (1960-05-08) (आयु 59)
ग्राम बहादुरपुर, छछरौली यमुनानगर, हरियाणा
राष्ट्रीयता भारतीय
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी श्री मति सुनीता गुर्जर
संबंध चन्दन सिंह (पिता) जगवती देवी (माता जी)
बच्चे 2(पुत्री) और 1(पुत्र)
निवास ग्राम बहादुरपुर, छछरौली यमुनानगर, हरियाणा
व्यवसाय किसान
पेशा राजनेता
धर्म हिन्दू

कंवरपाल गुर्जर ; जन्म: 08 मई 1960 ) हरियाणा के जिला(यमुनानगर), कंवरपाल, गाँव बहादुरपुर, पोस्ट ऑफिस खिजराबाद, तहसील छछरौली, जिला यमुनानगर। हरियाणा में भाजपा से (3 नवंबर, 2014 ) को 13वी विधानसभा के अध्यक्ष के रूप में शपथ ग्रहण की। कंवरपाल हरियाणा के यमुनानगर जिले के रहने वाले है और 13वी विधानसभा में जगाधरी से विधायक है इनके नेतृत्व में हरियाणा सरकार में बहुत बहुमल्य मुद्दों पर बिल पास किये जा रहे हैं, अपने कार्य और कर्तव्य के प्रति कंवरपाल जी की सच्ची सेवा और धार्मिक कार्यो में निजी योगदान इनके धार्मिक सवभाव को दर्शाता है। अपनी सादगी और मिलनसार वर्ताव के कारण जनता में इतना फेमस शायद ही कोई और विधायक होगा, जिसने जनता से इतना प्यार प्राप्त किया हो, राजनीती और काजनीति का एक बहुत अच्छा उदहारण अगर कंवरपाल जी को कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। [1]

जीवन परिचय-[संपादित करें]

कंवरपाल गुर्जर का जन्म 8 मई, 1960 में यमुनानगर के बहादुरपुर गांव में माँ श्री मति जगवती देवी और पिता श्री मान चन्दन सिंह के घर में हुआ था। यह साधारण से किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं। कंवरपाल स्कूल की सभी गतिविधियों में काफी आगे थे। इन्होंने प्राथमिक शिक्षा अपने ही गाँव बहादुरपुर के (Government School) स्कूल से प्राप्त की थी,पढ़ाई के इसी शौक के चलते कंवर जी ने मेट्रिक की परीक्षाओ में अपने ग्राम में सबसे अधिक अंक पराप्त किये। कंवर पाल दसवीं पास करने के बाद यमुनानगर के M.L.N कॉलेज से अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त करने के साथ-साथ इसी कॉलेज से B.A में प्रवेश किया। अपनी माटी से अपना जोड़ाव बनाए रखने के लिए कही नौकरी न करना सही समझा और कृषि व् समाज सेवा को अपना कार्य व् पूजा माना| कुछ समय बाद अपने माता पिता के आशीर्वाद से कंवरपाल जी श्री मति सुनीता जी के साथ विवाह बंधन में बंध गए और भगवान के आशीर्वाद से आज एक बेटा और दो पुत्रिया हैं।

राजनीतिक जीवन-[संपादित करें]

  • कंवरपाल जी ने साध्वी ऋतम्भरा से प्रभावित होकर 1989 में राम जन्मभूमि आंदोलन में भाग लिया।
  • 1990 में कंवरपाल जी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए |
  • भारतीय जनता पार्टी के जिला महासचिव बने दो बार |
  • तीन बार भारतीय जनता पार्टी के राज्य महासचिव बने।
  • 1991 में छछरौली से विधायक के लिए पहली बार चुनाव लड़ा |[2]

उपलब्धि -[संपादित करें]

  • 3 नवम्बर 2014 को हरियाणा प्रदेश की 13वी विधानसभा के अध्यक्ष बनाए गए। [3]
  • दो बार हरियाणा विधानसभा में विधायक के चुनाव जीते (2000 , 2014).

शोंक -[संपादित करें]

  • पहाड़ों पर भ्रमण
  • किताबें और अखबार पड़ना

पसंदीदा विषय -[संपादित करें]

  • इतिहास
  • भगवद गीता

विदेश यात्रा-[संपादित करें]

भाषाएँ-[संपादित करें]

सम्मेलन / संगोष्ठी / अध्ययन दौरे में भाग-[संपादित करें]

  • मुंबई, नागपुर और दिल्ली में भाजपा के वार्षिक सम्मेलनों में उपस्तिथि।
  • 26 जनवरी 2017 को गणतंत्र दिवस पर कैथल में ध्वज आरोहण किया। [4]
  • अक्षय तृतीया पर हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर जी ने 'सरस्वती पुनरुत्थान परियोजना' का उद्घाटन किया।

सन्दर्भ[संपादित करें]