ओड़िया लोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ओश़िया संस्कृति तथा सौन्दर्य

ओडीसा के लोग बहुत मिलजुलकर रहते हैं। [1]

ओडिसा[संपादित करें]

ओड़िया के लोग अरीयन समूह से आए थे। ओडिशा के पूर्वी तटीय राज्य में बहुमत पाए जाते है। विशाल बहुमत लोग हिन्दु धर्म के है। जयादातर लोग सूरज के धर्म मे मानते है। यह जगह कोनार्क मन्दिर के लिए जाना जाता है। ईसाइयों और मुसलमानों की जाती बहुत कम है इधर।

लोग[संपादित करें]

आरंभिक दिनों में ओडीया के लोगो को कलिंग के नाम से जाना जाता था। महाभारत जैसे पवित्र ग्रंथ मे भी यह बात दशाया गया है। पाली साहित्य मे उनको ओडाकास बुलाया जाता था।

संस्कृति[संपादित करें]

ओडीया समाज मे औरतों को बहुत सम्मान दिया जाता है। यहाँ आदिवासी भी अधिक मात्रा में पाये जाते हैं।[2]

मूल[संपादित करें]

यह राज्य अपने हेल मेल और भाईचारे के लिए जाना जाता है। यहाँ के लोग एकजुट होकर रहते हैं। औरतों को भी बहुत इज्जत दी जाती है। वे मकर , धनू , सरसवती पूजा , तीर्थ यात्रा , रामा नवामी , माघ सप्तमी , होली , शिवरात्रि , रथ यात्रा आदि मनाते हैं। पखाला यहाँ की प्रसिद्ध पकवान मे एक माना जाता है। [3]। यह पकवान चावल और पानी से बनाया जाता है। घी के चावल भी प्रसिद्ध हैं। कनिका, चावल की मिठाई है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]