एम एस सथ्यू

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मैसूर श्रीनिवास सथ्यू (जन्म मैसूर, कर्नाटक में)  भारत का एक प्रमुख फिल्म निर्देशक, स्टेज डिजाइनर और कला निर्देशक है। वह सब से ज़यादा भारत के विभाजन के आधार पर अपनी निर्देशकीय फिल्म गरम हवा (1973) के लिए जाना जाता है।[1] उन्होंने 1975 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया। [2]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

सथ्यू ने अपनी स्कूली शिक्षा और उच्च शिक्षा पर मैसूर और बैंगलोर से की। 1952 में अपनी विज्ञान स्नातक की डिग्री पर काम करते हुए उन्होंने कॉलेज छोड़ दिया और फिल्मों की अनिश्चित दुनिया में बॉम्बे चले गए।

उसने 1952-53 में एक एनिमेटर के रूप में मुक्त तौर पर काम किया। लगभग चार साल के लिए बेरोजगार रहने के बाद, उसने अपनी पहली वेतनभोगी नौकरी के रूप में फिल्म निर्माता चेतन आनंद के सहायक निर्देशक के रूप में काम पर लगे।

उसकी पत्नी शमा जैदी हैं।

कैरियर[संपादित करें]

उसका पहला काम एक स्वतंत्र कला निर्देशक के रूप में चेतन आनंद की एक फिल्म हकीकत के लिए मिला था, जिसके लिए 1964 में उसे फिल्मफेयर पुरस्कार मिला और इसी के साथ मान्यता भी। उस ने हिंदुस्तानी थिएटर,  हबीब तनवीर के ओखला रंगमंच, कन्नड़ भारती और दिल्ली के अन्य समूहों की प्रस्तुतियों के लिए थिएटर में  सेट डिजाइन करने और रोशनिओं सहित एक डिजाइनर और निर्देशक के रूप में भी काम किया। उस ने फिल्मों में एक कला निर्देशक, कैमरा, पटकथा लेखक, निर्माता और निर्देशक के रूप में  काम किया है। उनकी फिल्मोग्राफी में  हिंदी, उर्दू और कन्नड़ में 15 से अधिक वृत्तचित्र और 8 फीचर फिल्में .शामिल हैं।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Back Story: Separate lives". Mint. 27 July 2012.
  2. Barnouw, Erik, and S. Krishnaswamy, Indian Film, New York and London, 1963.