एड्वर्ड एल्ब्रिक सालिस्बरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
एड्वर्ड एल्ब्रिक सालिस्बरी
Professor Edward E Salisbury.jpg
जन्म Edward Elbridge Salisbury
एड्वर्ड एल्ब्रिक सालिस्बरी
06 अप्रैल 1814
बोस्टन
मृत्यु 5 फ़रवरी 1901(1901-02-05) (उम्र 86)
न्यू हेवन, कनेक्टिकट
राष्ट्रीयता अमरीकी
व्यवसाय संस्कृत भाषा के विद्वान

एड्वर्ड एल्ब्रिक सालिस्बरी (6 अप्रेल 1814 – 5 फ़रवरी 1901)[1] एक अमरीकी संस्कृत विद्वान थे।

एड्वर्ड एल्ब्रिक सालिस्बरी ने येल विश्वविद्यालय से 1832 में अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद वहाँ अरबी और संस्कृत के प्रोफ़ेसर के तौर पर 1841 में नियुक्त हुए। सालिस्बरी 1854 तक विश्वविद्यालय में संस्कृत के एक-मात्र चेयर (Chair) रहे। 1854 में एक अलग "संस्कृत और उससे उत्पन्न भाषाओं की प्रोफ़ेसरशिप" बनाई गई जिस पर विलियम ड्वाइट विटनी की प्रथम नियुक्ति हुई थी।[2][3]

सालिस्बरी 1863 से 1866 तक अमरीकी पूर्वदेशीय सोसाइटी (American Oriental Society) के अध्यक्ष रहे। वह 1873 से 1880 तक इस संस्था के फिर से अध्यक्ष रहे।[1]

सालिस्बरी पेरिस की एशियाई सोसाइटी के सदस्य चुने गए और जर्मन पूर्वदेशीय सोसाइटी के तद्नुरूपी सदस्य थे। उन्हें 1861 में अमरीकी पुरातात्त्विक सोसाइटी (American Antiquarian Society) का सदस्य चुना गया।[4] उन्हे साहित्य में डॉक्ट्रेट की उपाधि दो बार दी गई - पहली बार येल विश्वविद्यालय द्वारा 1869 में और फिर हार्वर्ड विश्वविद्यालय द्वारा 1886 में। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Memorial of Edward Elbridge Salisbury". Journal of the American Oriental Society. 22: 1–6. 1901.
  2. Ziad Elmarsafy; Anna Bernard; David Attwell (13 June 2013). Debating Orientalism. Palgrave Macmillan. पपृ॰ 83–86. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-137-34111-2.
  3. "Sanskrit An occasional language of instruction at Yale". येल विश्वविद्यालय.
  4. American Antiquarian Society Members Directory