एचएएल ध्रुव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ध्रुव
Indian air force dhruv helicopter j4042 arp.jpg
भारतीय वायुसेना का ध्रुव हैलीकॉप्टर सारंग हैलीकॉप्टर प्रदर्शन टीम २००८, इंगलैंड.
प्रकार बहु भूमिका हैलीकॉप्टर
उत्पत्ति का देश भारत
उत्पादक हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड
प्रथम उड़ान २० अगस्त १९९२
आरंभ २००२
स्थिति सक्रिय
प्राथमिक उपयोक्तागण भारतीय थलसेना
भारतीय वायुसेना
भारतीय जलसेना
इक्वेडोर वायु सेना
निर्मित इकाई ९६[1]
इकाई लागत 40 करोड़ (US$5.84 मिलियन)
के रूप में विकसित किया गया एच ए एल हल्का लड़ाकू हेलीकाप्टर

ध्रुव हैलीकॉप्टर हिंदुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड द्वारा विकसित और निर्मित भारत का एक बहूद्देशीय हैलीकॉप्टर है। इसकी भारतीय सशस्त्र बलों को आपूर्ति की जा रही है और एक नागरिक संस्करण भी उपलब्ध है। इसे पहले नेपाल और इज़रायल को निर्यात किया गया था फिर सैन्य और वाणिज्यिक उपयोग के लिए कई अन्य देशों द्वारा मंगाया गया है। सैन्य संस्करण परिवहन, उपयोगिता, टोही और चिकित्सा निकास भूमिकाओं में उत्पादित किये जा रहे हैं।

ध्रुव मंच के आधार पर, एच ए एल हल्का लड़ाकू हेलीकाप्टर, एक लड़ाकू हेलीकाप्टर और एचएएल लाइट अवलोकन हेलीकाप्टर, एक उपयोगिता और प्रेक्षण हेलिकॉप्टर विकसित किए गए है।

विकास[संपादित करें]

उन्नत हल्के हेलीकाप्टर (ए एल एच) कार्यक्रम की सबसे पहले घोषणा नवंबर १९८४ में की गई थी। इसे ए एल एच एम बी बी की सहायता के साथ जर्मनी में डिजाइन किया गया था। जुड़वा १००० हार्सपावर टीएम ३३३-२बी टर्बोशाफ्ट केबिन के ऊपर स्थापति किये गये है और चार ब्लेड वाली समग्र मुख्य घूर्णक को घुमाती है। ए एल एच एक उन्नत एकीकृत गतिशील प्रणाली का उपयोग करती है जो कई घूर्णक नियंत्रण सुविधाओं को एक एकीकृत मॉड्यूल में जोड़ती है। सिविल प्रोटोटाइप ए एल एच (३१८२ जेड) ने सबसे पहले बंगलौर में २३ अगस्त १९९२ को उड़ान भरी, उसके बाद एक दूसरे नागरिक विमान (जेड-३१८३), एक सेना संस्करण (जेड-३२६८) और सीटीएस ८०० इंजन के साथ एक नौसैनिक प्रोटोटाइप (एन ९०१) को परिक्षित किया गया। पहले प्रोटोटाइप ने अगस्त १९९२ में उड़ान भरी, भारतीय सेना की बदलती मांगो, धन और एम बी बी के साथ संविदात्मक मुद्दों के कारण, काफी समस्याए पैदा हुई। १९९८ मे भारत के परमाणु परीक्षण के बाद अमेरिकी प्रतिबंधों से और देरी हुई जिसने इंजन पर प्रतिबंध लगा दिया जो ध्रुव को चलाने वाला था।

एचएएल ध्रुव मंच पर आधारित हल्के लड़ाकू हेलीकाप्टर भी भारतीय सशस्त्र बलों के लिए विकसित कर रहा है। इसमे ठूंठ पंख होन्गे जो आठ कवच विरोधी मिसाइलों, चार हवा से हवा मारक मिसाइलों या चार ७० या ६८ एमएम रॉकेट बजिकोष ले जाने के लिये उपयुक्त होगा। ध्रुव (अग्रेषित इन्फ्रारेड तलाश), सीसीडी (प्रभारी युग्मित डिवाइस) कैमरा और थर्मल दृष्टि और लेजर रेंज फाइंडर से युक्त होगा।

उत्पादन के हाल के संस्करण अधिक शक्तिशाली शक्ति इंजन का उपयोग कर रहे है जो एचएएल और टर्बोमेका द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया है [2] । नए इंजन और लडाकू संस्करण के साथ ध्रुव की पहली परीक्षण उड़ान 16 अगस्त 2007 को हुई थी। [3]

रचना[संपादित करें]

भारतीय थलसेना का ध्रुव हैलीकॉप्टर, एक संयुक्त सैन्य अभ्यास के दौरान अमेरिकी सैनिकों की तैनाती करते हुए

एचएएल ध्रुव परंपरागत डिजाइन का है और दो तिहाई वजन सम्मिश्र निर्माणित है। उच्च पूंछ उछाल रियर सीपी दरवाजे के लिए आसान पहुँच की अनुमति देता है। चार पंखों का काजरहित मुख्य रोटर मैन्युअल रूप से तह किया जा सकता है। ब्लेड क्रुसीफोर्म के आकार के कार्बन फाइबर प्रबलित प्लास्टिक प्लेटों के बीच एक फाइबर रोटर सिर पर स्थापति है। हेलीकाप्टर एक सक्रिय कंपन नियंत्रण प्रणाली का उपयोग करता है जो कि उत्तरी केरोलिना लोर्ड कोर्पोरेशन द्वारा विकसित की गई है।

कॉकपिट[संपादित करें]

हवाई जहाज़ के ढांचे का कॉकपिट अनुभाग केवलर और कार्बन फाइबर निर्माण का है और दुर्घटना रहित सीटों से सुसज्जित है। विमान एक चार अक्ष स्वचालित उड़ान नियंत्रण प्रणाली से सुसज्जित है। नेविगेशन सुइट मे एक ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम, एक डॉपलर नेविगेशन प्रणाली, दूरी को मापने के उपकरण, एक हवा की गति सूचक, स्वत दिशा खोजक, शीर्ष संदर्भ प्रणाली, रेडियो एल्टिमीटर, वी एच एफ दिशात्मक रेंजर और इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम और मार्कर भी शामिल है। संचार प्रणाली मे एच एफ, वी एच एफ और यू एच एफ शामिल है।

परिचालन इतिहास[संपादित करें]

सैन्य सेवा[संपादित करें]

लडाकू ध्रुव हैलीकॉप्टर

ध्रुव का वितरण २००२ में शुरू हुआ, पहले उड़ान प्रोटोटाइप के दस साल और कार्यक्रम शुरू होने के लगभग बीस वर्षों के बाद के बाद। भारतीय तटरक्षक बल ध्रुव हेलीकाप्टरों को सेवा में लाने वाली पहली संस्था बनी। उसके बाद इसका अधिष्ठापन भारतीय सेना, भारतीय नौसेना, भारतीय वायुसेना और सीमा सुरक्षा बल के द्वारा किया गया। ७५ ध्रुव भारतीय सशस्त्र बलों को दिए गए और ४० वार्षिक हेलीकाप्टरों के उत्पादन की योजना है। विश्व की केवल तीन हेलीकाप्टर प्रदर्शन टीमों में से एक, भारतीय वायु सेना की सारंग प्रदर्शन टीम चार ध्रुव हेलीकाप्टरों के साथ क़लाबाज़ी करती है।

ध्रुव उच्च ऊंचाई पर उड़ान में सक्षम है जो सेना के लिए सियाचिन ग्लेशियर और कश्मीर में एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है। [4][5] अक्टूबर २००७ में, एक ध्रुव ने सियाचिन में २७५०० फीट (८४०० मीटर) की ऊंचाई के लिए उड़ान भरी। [6] 166 हेलीकाप्टरों के लिए एक और आदेश एचएएल को दिया गया क्योंकि यह भारतीय सेना के साथ अच्छी तरह से अधिक ऊंचाई के क्षेत्रों में काम कर रहा है। [7] [8] [9] पनडुब्बी विरोधी संस्करण को उत्पादन मे शामिल नहीं किया जाएगा क्योकि यह पनडुब्बी रोधी भूमिका में भारतीय नौसेना की जरूरतों के अनुरूप नहीं था। [10]

नागरिक सेवा[संपादित करें]

ध्रुव का नागरिक संस्करण

एचएएल ध्रुव के असैनिक संस्करण का उत्पादन वीआईपी परिवहन, बचाव, पुलिस, अपतटीय आपरेशनों और एयर एम्बुलेंस भूमिका के लिए करती है। [11] अप्रैल २००८ में, एचएएल के अध्यक्ष श्री बवेजा ने पुष्टि की कि गृह मंत्रालय ने छह ध्रुव हैलीकॉप्टरो के लिए एक आदेश रखा है। [12] राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के साथ १२ उन्नत हल्के हेलीकाप्टर (ए एल एच) के लिए आदेश रखा है। [13] मुख्य परीक्षण विमान - चालक विंग कमांडर उपाध्याय ने कहा कि हेलीकाप्टरों कृत्रिम सांस और दो स्ट्रेचर सहित चिकित्सा उपकरण, का एक पूरा सेट होगा। [14]

विदेशी बिक्री[संपादित करें]

इक्वेडोर वायु सेना का ध्रुव

ध्रुव पहली प्रणाली है जिसने भारतीय हथियारों के लिए बड़ी विदेशी बिक्री सुरक्षित की है। [15] एचएएल को अगले आठ वर्षों में १२० ध्रुव बेचने की उम्मीद है और ध्रुव को बिक्री के लिये पेरिस वायु प्रदर्शन पर ध्रुव को प्रदर्शित किया गया। [16] अपने प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में प्रति यूनिट १५% कम कीमत के साथ, ध्रुव ने लैटिन अमेरिका, अफ्रीका, पश्चिम एशिया, दक्षिण पूर्व एशिया और प्रशांत रिम देशों मे कई देशों की रुचि हासिल की है। [17] लगभग ३५ देशों की वायु सेना ने प्रदर्शनों के लिए अनुरोध के साथ, ध्रुव को जांच में भेज दिया है। .[18] [19] [20] [21] [22] [23][24] [25] [26] [27][28]

ऑपरेटर[संपादित करें]

ध्रुव हैलीकॉप्टर के ऑपरेटर

सैन्य ऑपरेटर[संपादित करें]

ध्रुव भारतीय थलसेना की सेवा मे
ध्रुव क़लाबाज़ी करते हुए २००९
Flag of India.svg भारत
Flag of Myanmar.svg म्यान्मार
  • म्यांमार वायु सेना[31]
Flag of Israel.svg इज़राइल
  • रक्षा मंत्रालय इसराइल (१)
Flag of Nepal.svg नेपाल
  • नेपाली सेना एवं वायु सेवा (४)
Flag of Bolivia.svg बोलिविया
Flag of Ecuador.svg ईक्वाडोर
Flag of Suriname.svg सूरीनाम
Flag of Mauritius.svg मॉरिशस
Flag of Maldives.svg मालदीव

नागरिक ऑपरेटर[संपादित करें]

ध्रुव हैलीकॉप्टर हवाई चलचिकित्सालय in बंगलौर, भारत.
Flag of India.svg भारत
तुर्की
पेरू
  • पेरू स्वास्थ्य सेवाएं (२ आदेश पर)[39]

घटनाएं[संपादित करें]

  • 2005 में, पूरे ए एल एच ध्रुव के बेड़े को आंध्र प्रदेश में एक घटना के बाद धरती पर उतार लिया गया और बाद में जांच के बाद हेलीकाप्टरों की पूंछ रोटर ब्लेड के साथ एक दोष पाया गया।[40]
  • 2 फ़रवरी 2007 एयरो भारत के रिहर्सल दौरान भारतीय वायु सेना के हेलीकाप्टर सारंग टीम का प्रदर्शन एचएएल ध्रुव दुर्घटनाग्रस्त हो गया, सह पायलट स्क्वाड्रन लीडर प्रिये शर्मा मारे गए और पायलट विंग कमांडर विकास जेटली घायल हो गए।[41].[42][43]
  • 2010 में, भारतीय वायु सेना की ध्रुव टीम के एक हेलीकाप्टर को "वायु शक्ति" प्रदर्शन के अभ्यास के दौरान दुर्घटना लैंडिंग के लिए मजबूर होना पडा। भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी ने कहा दोनों पायलट सुरक्षित हैं हेलिकॉप्टर में शक्ति हानि के कारण नियंत्रित दुर्घटना से उतरने के लिये मजबूर होना पडा।[40][44]

विनिर्देश[संपादित करें]

शक्ति इंजन

सामान्य लक्षण

  • चालकदल: 1 or 2 pilots
  • क्षमता: 4-12 यात्री
  • लंबाई: 15.87 मी (52 ft 0.8 इं)
  • रोटर व्यास: 13.20 मी (43 ft 3.7 इं)
  • ऊंचाई: 4.05 मी (12 फीट 4 इं)
  • डिस्क क्षेत्र: 137 मी² (1,472 फीट²)
  • खाली वजन: 2,502 किलो (5,515 lb)
  • अधिकतम उड़ान वजन: 5,500 किलो (12,125 lb)
  • पावर प्लांट: 2 × शक्ति टर्बोशाफ्ट, 1000 kW (1400 shp[45])
    Alternate engine: 2x टर्बोमेका TM 333-2B2 टर्बोशाफ्ट, 746 kW (1,000 शाफ्ट अश्वशक्ति) प्रत्येक से

प्रदर्शन

  • अधिकतम गति: 280 किमी/घंटा (175 मील प्रति घण्टा, 150 नॉट्स)
  • हमले की त्रिज्या: 320 किमी (200 मील, 175 nmi)
  • फेरी रेंज: 827 किमी (516 मील, 447 nmi)
  • अधिकतम सेवा सीमा: 8382 मीटर (27,500 फीट)
  • आरोहन दर: 8.9 मीटर/सेकेंड (1,771 फीट/मि)
  • थ्रस्ट/वजन: 329.73 वाट/किलो (0.20 अश्वशक्ति/पाउंड)

अस्र-शस्र

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "-Report of Comptroller and Auditor General of India" (PDF). मूल (PDF) से 27 अक्तूबर 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 जनवरी 2011.
  2. "Shakti-powered ALH to fly on August 1". Hindu.com. 2007-07-19. मूल से 19 अक्तूबर 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  3. "Dhruvs with Shakti engine and weapons make maiden flight". Hal-india.com. मूल से 7 जून 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  4. "Dhruv helicopter set to fly in Siachen" Archived 5 दिसम्बर 2007 at the वेबैक मशीन., NDTV, 3 सितंबर 2007
  5. "Dhruv clears trials to fly high in Siachen" Archived 22 फ़रवरी 2007 at the वेबैक मशीन., द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया , 20 फ़रवरी 2007. Retrieved 8 अक्टूबर 2007.
  6. "Bangalore ALH pilots fly high" Archived 13 अक्टूबर 2007 at the वेबैक मशीन., Times of India, 8 अक्टूबर 2007
  7. "Light Combat Helicopter to fly soon, INDIA`S NEW MILITARY HELICOPTERS: PART II by Ajai Shukla / Bangalore September 09, 2008, 0:12 IST". Business Standard. मूल से 7 जून 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  8. "Armed Forces Medical Corps to buy 12 ALH air ambulances from HAL". Domain-b.com. 2007-08-21. मूल से 18 मई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  9. Singh, Rahul (2008-06-12). "Navy plans to ditch Dhruv helicopters". हिन्दुस्तान टाइम्स. HT Media Ltd.
  10. "Navy has not rejected Dhruv: Defence Minister". Zeenews.com. 2008-10-22. मूल से 29 जून 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  11. "HAL Website, with Brochures for individual roles". Hal-india.com. मूल से 14 अक्तूबर 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  12. http://mail.hal-india.com/mps/msm/MinskSquareMatters-Issue54.pdf
  13. "NDMA to get 12 ALHs". Deccanherald.com. 2010-08-16. मूल से 27 जून 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  14. "HAL likely to get Indian Rupee 420 crore order for air ambulances". Business-standard.com. 2007-05-21. मूल से 29 जनवरी 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  15. Indian Embassy in Turkey[मृत कड़ियाँ], Civil Aviation in India - Report, June 2006.
  16. Jangveer Singh, Dhruv, IJT attract buyers in Paris Archived 11 जून 2011 at the वेबैक मशीन., the Tribune, 16 जून 2005.
  17. Huma Siddiqui, HAL on a Dhruv ride in LatAm Archived 16 जुलाई 2014 at the वेबैक मशीन., Financial Express, 15 जुलाई 2008
  18. "HAL secures order for ambulance version of ALH Dhruv from Peru". Domain-b.com. 2008-06-24. मूल से 18 मई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  19. "Chile keen to buy HAL's Dhruv helicopters". Financialexpress.com. 2007-05-26. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  20. "HAL Bags Order from Ecuador". Pib.nic.in. मूल से 13 अगस्त 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  21. "HAL to hand over first export Dhruvs". Business-standard.com. 2009-02-09. मूल से 16 मार्च 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  22. "Dhruv a star in Ecuador, Ecuadorian Army, Navy want it in their fleet" (PDF). मूल (PDF) से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2011.
  23. Pubby, Manu. "India bags $20 mn helicopter contract" Archived 22 नवम्बर 2008 at the वेबैक मशीन.. द इंडियन एक्सप्रेस. (online edition). 10 अगस्त 2008. Retrieved 30 अगस्त 2008.
  24. "HAL in negotiations with S American countries". Business-standard.com. 2008-07-16. मूल से 17 दिसंबर 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  25. "'Threat' to EU-Burma embargo" Archived 23 सितंबर 2008 at the वेबैक मशीन., बीबीसी न्यूज़, 16 जुलाई 2007. Retrieved 8 अक्टूबर 2007.
  26. "HAL hopes to see Dhruv copters on Malaysian shopping list". Thehindubusinessline.com. 2004-12-24. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  27. "Indonesia evaluating purchase of Indian Advanced Light Helicopter Dhruv news". Domain-b.com. 2008-10-25. मूल से 17 नवंबर 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  28. "HAL aircraft to fly in Ecuador skies". Sify.com. 2009-02-11. मूल से 14 फ़रवरी 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  29. "BSF gets 360 crore for raising 29 new battalions". Livemint.com. 2009-05-20. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  30. Agencies (2009-12-28). "Centre to deploy 10 Dhruv copters for anti Maoist ops". Express India. अभिगमन तिथि 2010-08-31.[मृत कड़ियाँ]
  31. "'Threat' to EU-Burma embargo". बीबीसी न्यूज़. 16 जुलाई 2007. मूल से 23 सितंबर 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2011.
  32. "संग्रहीत प्रति" (PDF). मूल से 9 अगस्त 2007 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2011.
  33. K. Gopinathan. द हिन्दू. (online edition). "HAL to supply 7 Dhruv helicopters to Ecuador" Archived 3 नवम्बर 2012 at the वेबैक मशीन.. 27 जून 2008. Retrieved 30 अगस्त 2008.
  34. "Shiv Aroor blog Livefist (Headline Today journalist in Delhi, भारत.)". Livefist.blogspot.com. 2009-10-16. मूल से 28 दिसंबर 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  35. "Suriname buys defence helicopters from India". Caribbeannetnews.com. 2009-02-12. मूल से 15 जून 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  36. "Bernama: Suriname Buys Defence Helicopters From India". Web3.bernama.com. अभिगमन तिथि 2010-08-31.[मृत कड़ियाँ]
  37. "Mauritius acquires sophisticated helicopter from India for coastal patrol". Apanews.net. अभिगमन तिथि 2010-08-31.[मृत कड़ियाँ]
  38. "Haveeru Online - India donates a helicopter to Maldives". Haveeru.com.mv. 2010-04-18. मूल से 17 जून 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  39. "Aviation & Aerospace: '''HAL secures order for ambulance version of ALH Dhruv from Peru''' Posted on 24 जून 2008". Domain-b.com. 2008-06-24. मूल से 18 मई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  40. February 27th, 2010 (2010-02-27). "IAF's Dhruv helicopter crash-lands in Jaisalmer | डेक्कन क्रॉनिकल | 2010-02-27". डेक्कन क्रॉनिकल. मूल से 4 मार्च 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  41. "ALH helicopter crashes; IAF pilot killed ahead of Aero India show". globalsecurity.org. मूल से 25 मई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2007-08-25.
  42. Aero-India 2007, "Sarang" Helicopter Display Team, www.Bharat-Rakshak.com[मृत कड़ियाँ]
  43. Aero-India 2007, "Sarang" Aerobatic Team, Images by Arun Vishwakarma, www.Bharat-Rakshak.com[मृत कड़ियाँ]
  44. "Ecuador air force Dhruv helicopter crashes during parade". domain-b.com. 2009-10-28. मूल से 15 जुलाई 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.
  45. "Safran Group". Turbomeca. मूल से 27 अप्रैल 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2010-08-31.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]