सामग्री पर जाएँ

एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा
निर्देशक शैली चोपड़ा धर
पटकथा
निर्माता विधु विनोद चोपड़ा
अभिनेता
छायाकार हिम्मन धमीजा
संपादक आशीष सूर्यवंशी
संगीतकार रोचक कोहली
निर्माण
कंपनी
वितरक फ़ॉक्स स्टार स्टूडियोज़
प्रदर्शन तिथियाँ
  • 1 फ़रवरी 2019 (2019-02-01)
लम्बाई
120 मिनट[1]
देश भारत
भाषा हिंदी
लागत 30 करोड़[2]
कुल कारोबार अनुमानित 39.86 करोड़[3]

एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा [4] शैली चोपड़ा धर द्वारा निर्मित एक हिंदी किशोर कॉमेडी-ड्रामा फ़िल्म है जो 2019 में रिलीज़ हुई थी। धर और ग़ज़ल धालीवाल द्वारा लिखित इस फ़िल्म की कहानी पी॰ जी॰ वुडहाउस के 1919 में प्रकाशित उपन्यास अ डैमज़ल इन डिस्ट्रेस पर आधारित है।[5] इस फ़िल्म के प्रमुख पात्रों की भूमिका में अनिल कपूर, सोनम के॰ आहूजा,[a] राजकुमार राव और जूही चावला तथा सहायक पात्रों की भूमिका में सीमा पाहवा, बृजेंद्र कला, अल्का कौशल, अक्षय ओबेरॉय और रेजिना कैसेंद्रा मौजूद हैं। यह फ़िल्म लेस्बियन स्वीटी चौधरी की कहानी दर्शाती है जो अपने रूढ़िवादी पंजाबी परिवार के आगे अपनी सच्चाई जीना चाहती है।[b]

यह फ़िल्म पिता अनिल कपूर और बेटी सोनम कपूर की साथ में पहली फ़िल्म और रेजिना कैसेंद्रा की पहली बॉलीवुड फ़िल्म है।[6][7] 1 फ़रवरी 2019 को इस फ़िल्म को वैश्विक स्तर पर रिलीज़ किया गया था। फ़िल्म की कहानी को अकादमी ऑफ़ मोशन पिक्चर आर्ट्स ऐंड सायंसेज़ के कोर संग्रह में समावेश किया गया था।[8]

अपने पंजाबी मूल के रूढ़िवादी परिवार से जवान स्वीटी चौधरी को शादी करने का दबाव है। वह एक शादी में कुहू नाम की एक जवान लड़की और उसका भाई राजा से मिलती है। एक साल गुज़र जाता है। दिल्ली में साहिल मिर्ज़ा एक नाटककार है हालाँकि वह ज़्यादा सफल नहीं है। उसका पिता, जो एक प्रसिद्ध फ़िल्म निर्माता है, मानता है कि उसे नाटककार बनने का सपना छोड़ देना चाहिए। स्वीटी उसके नए नाटक का पूर्वाभ्यास देखती है और कहती है कि कहानी रोमांचक होने के बावजूद कहानी में रोमांस सतही है। एक आदमी उसका पीछा करता हुआ आता है और साहिल उसे भागने में मदद करता है। उसके भागने के वक़्त साहिल उस आदमी से झगड़ता है और ग़लती से एक पुलिस को मार देता है। पुलिस स्टेशन में साहिल को पता चलता है कि वह आदमी स्वीटी का भाई बबलू है और वे मोगा, पंजाब में चौधरी निवास में रहते हैं। साहिल स्वीटी को एक बार और देखना चाहता है और अपना अगला नाटक मोगा में लिखना का फ़ैसला करता है। उसके साथ कैटरर और उत्साही शौकिया अभिनेत्री छत्रो भी पंजाब चली जाती है।

स्वीटी और बबलू का विधुर पिता बलवीर चौधरी चौधरी गारमेंट्स नाम की कपड़े की कंपनी चलाता है। वह दरअसल एक रसोइया बनना चाहता था लेकिन उसकी माँ इस बात पर ज़ोर देती है कि रसोड़े में आदमियों का कोई काम नहीं होता। बबलू दावा करता है कि स्वीटी एक मुसलमान लड़के से मिलने के लिए दिल्ली जा रही है और इसलिए उसे घर से निकलने नहीं देना चाहिए। साहिल स्वीटी के लिए एक चिट्ठी के साथ चौधरी निवास जाता है जहाँ वह बलवीर को रसोड़े में देखता है। बलवीर को रसोइया समझकर साहिल उसे स्वीटी को चिट्ठी देने के लिए पैसा देता है। इससे बलवीर को यक़ीन होता है कि साहिल स्वीटी का मुसलमान प्रेमी है। इसके बाद साहिल बलवीर के कामदार चौबे को स्वीटी को एक ख़बर पहुँचाने के लिए पैसा देता है। चौबे साहिल को बताता है कि स्वीटी उससे प्यार करती है लेकिन उसके परिवार को यह रिश्ता मंज़ूर नहीं है क्योंकि साहिल एक मुसलमान है। परिवार द्वारा नियोजित कुछ लोग इस बात पर दाँव लगाते हैं कि स्वीटी की शादी किससे होगी। परिवार की रसोइया बिल्लौरी एक मैचमैकिंग ऐप पर मिले किसी आदमी पर दाँव लगाती है। चौबे "मिस्टर एक्स" नाम के अनजान बाहरी इंसान पर दाँव लगाता है। स्वीटी को पता चलता है कि साहिल अभिनय का क्लास ले रहा है और बीजी और बिल्लौरी के साथ क्लास में जाती है। अगले दिन साहिल और छत्रो को बीजी के जन्मदिन की पार्टी में बुलाया जाता है।

बीजी की पार्टी में खाना पकाने को लेकर छत्रो और बलवीर की बात बनती है। वह साहिल को पार्टी का मज़ा लेते हुए देखता है और दूसरों को बताता है कि साहिल स्वीटी का मुसलमान प्रेमी है। चौबे साहिल को छुपकर स्वीटी के कमरे में लता है जहाँ वह स्वीटी को अपना प्यार का इज़हार करता है। वह बताती है कि बबलू ने झूट बोला था और वह दरअसल एक लड़की से प्यार करती है। साहिल चकित हो जाता है लेकिन नशे के धुन में कुछ नहीं बोल पाता। अगले दिन वह अभिनय के क्लास बंद कर देता है। बिल्लौरी ने चौबे को साहिल को स्वीटी के कमरे में ले जाते हुए देख लिया था और वह चौबे को अपने दाँव बदलने के लिए ब्लैकमेल करती है। वह स्वीटी को फिर से साहिल से मिलने में मदद करती है। स्वीटी बताती है कि बचपन से ही वह दूसरों से फ़रक़ महसूस करती थी और अब वह अपना सच सबसे छुपाती है। वह कुहू के साथ प्रेम के बंधन में बँध चुकी है। बबलू को इसके बारे में पता चलने के बाद यह सब रोकने की कोशिश की थी लेकिन उसने दिल्ली में कुहू से मिलना जारी रखा। उसे एक भरोसेमंद दोस्त पाने की ख़ुशी है और साहिल वह दोस्त होने की वजह से ख़ुश है। स्वीटी कुहू के साथ लंदन जाकर शिल्पकला सीखना चाहती है लेकिन वह अपने परिवार से नहीं भागना चाहती। छत्रो बलवीर से कहता है कि उसके संबंध विच्छेद के बाद उसने ही अपने बच्चों को पाल-पोसकर बड़ा किया था और वह अपने बच्चे को शादी करने या न करने की और धर्म को ध्यान में न रखते हुए जिसके साथ भी शादी करने की आज़ादी देगी। यह बलवीर को साहिल को खाने पर बुलाकर उससे स्वीटी की मँगनी तय करने को प्रेरित करता है जिससे बबलू सहमत होता है।

स्वीटी अपने परिवार को ख़ुश करने के लिए साहिल से शादी करने को तैयार हो जाती है लेकिन साहिल को यह मंज़ूर नहीं होता। साहिल की समर्थक माँ उसे उसके एक सफल नाटक के बारे में याद दिलाती है जो एक असली घटना पर आधारित था। साहिल बलवीर के आगामी फ़ैशन शो के लिए एक नाटक लिखना की पेशकश करता है जिसमें बलवीर, छत्रो और बाक़ी सब अभिनय करेंगे। साहिल एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा नाम का एक रूमानी नाटक लिखता है जिसमें स्वीटी और कुहू प्रमुख पात्रों की भूमिका में पेश आते हैं। हालाँकि बलवीर को कहानी हास्यास्पद लगता है, साहिल उसे यह कहकर मनाता है कि यह कहानी की विषयवस्तु नई और रोचक है। बबलू बाहर होना चाहिए था लेकिन उसे इस नाटक के बारे में पता चलता है और खुलासा करता है कि कुहू स्वीटी की प्रेमिका है, साहिल की नहीं। बलवीर ग़ुस्से में निकलता है लेकिन स्वीटी घोषणा करती है कि शो जारी रहेगी। दो लड़कियों की प्रेम कहानी देखकर दर्शकों में से कुछ निकलने लगते है लेकिन ज़्यादातर लोग ठहरते हैं। स्वीटी की डायरी पढ़ने के बाद बलवीर को उसकी बेटी के अकेलेपन का एहसास होने के बाद वह स्वीटी और कुहू के बचाव में मंच पर जाता है। वह उन दोनों के संबंध को स्वीकारकर उसका समर्थन करता है। दर्शक ताली बजाते हैं। बाद में साहिल के पिता उसे उसके नाटक की तारीफ़ करता है। स्वीटी साहिल को यही नाटक बाक़ी जगहों में पेश करने की सलाह देती है ताकि उसके जैसे दूसरी लड़कियों को अकेला महसूस न हो। बलवीर एक रेस्तराँ खोलता है और छत्रो से प्रेम के बंधन में बँध जाता है। "मिस्टर एक्स" के लिंग बेमतलब होने की वजह से बिल्लौरी दाँव जीत जाती है।

अभिनेतावृंद

[संपादित करें]

निर्माण

[संपादित करें]

29 जनवरी 2018 को पटियाला में फ़िल्म का छायांकन की शुरुआत हुई।[9][10] पहले सिर्फ़ अनिल कपूर छायांकन में संलग्न थे लेकिन कुछ समय बाद सोनम कपूर भी निर्माण कार्य में शामिल हो गईं।[11] यह फ़िल्म विनोद चोपड़ा फ़िल्म्ज़ के बैनर तले विधु विनोद चोपड़ा द्वारा निर्मित किया गया था।[12]

इस फ़िल्म का नाम अनिल कपूर की 1994 की फ़िल्म 1942: अ लव स्टोरी के इसी नाम के गाने से लिया गया है।[13][14] एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा में भारत के लोकप्रिय ऑनस्क्रीन जोड़ों में से एक माने जानेवाले अनिल कपूर और जूही चावला के 11 साल बाद पुनर्मिलन हुआ था।

फ़ॉक्स स्टार स्टूडियोज़ द्वारा वितरित इस फ़िल्म को 1 फ़रवरी 2019 को राष्ट्रीय स्तर पर 1500 थिएटरों में रिलीज़ किया गया था और ब्रिटिश बोर्ड ऑफ़ फ़िल्म क्लासिफ़िकेशन द्वारा 12A प्रमाणन प्राप्त हुआ था।[1][15][16][17]

प्रतिक्रियाएँ

[संपादित करें]

आलोचनात्मक प्रतिक्रियाएँ

[संपादित करें]

समीक्षा वेबसाइट रॉटन टमेटोज़ में 13 समीक्षाओं के आधार पर इस फ़िल्म को 77% का अनुमोदन स्कोर और 10 में से 6.89 की औसत रेटिंग प्राप्त है।[18]

एन॰ डी॰ टी॰ वी॰ के सैबल चटर्जी ने इस फ़िल्म को 5 में से 4 सितारे देकर लिखा, "आम तौर पर एल॰ जी॰ बी॰ टी॰ क्यू॰ संवेदनाओं की भयावह रूप से बेपरवाह करनेवाली व्यावसायिक फ़िल्म निर्माण परंपरा के संदर्भ में एक लड़की को देखा... ताज़ी हवा का झोंका जैसी है, 2008 की दोस्ताना के बाद बॉलीवुड की बड़ी उपलब्धि है। यह फ़िल्म विषय का उपहास करने की जगह एक रूढ़िवादी समाज में खुलकर जीने के कार्य का एक गंभीर चित्रण पेश करती है।" उनके मुताबिक़ फ़िल्म की कहानी सरल होने के बावजूद निरापद है—फ़िल्म की समलैंगिक जोड़ी एक-दूसरे के होठों तो क्या, गाल तक नहीं चूमते—लेकिन यह फ़िल्म कुछ ऐसा करने में सक्षम है जो अन्य कोई बॉलीवुड मनोरंजक फ़िल्म नहीं कर सकती। यह फ़िल्म मनोरंजन प्रदान करने के उद्देश्य से विचलित न होकर भी दर्शकों को नए तरीक़े से सोचने की प्रेरणा देती है।[19]

टाइम्ज़ नाउ के गौरांग चौहान ने फ़िल्म को 5 में से 3.5 सितारे देकर लिखा कि हास्य संघर्ष में मुस्लमान और हिंदू धर्मावलंबिओं के प्यार का मज़ाक बनाने के बावजूद यह एक महत्त्वपूर्ण और सुविचारित फ़िल्म है जो मनोरंजन और शानदार प्रदर्शनी से भरपूर है और तालियों की हक़दार है।[20]

इंडिया टुडे की अनन्या भट्टाचार्य ने 5 में से 4 सितारे देकर लिखा, "एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा हमें अपने सही और ग़लत के विचारों पर ग़ौर करने की प्रेरणा देती है... यह हमारे वर्तमान समाज के लिए एक महत्त्वपूर्ण फ़िल्म है... लेखिका ग़ज़ल धालीवाल और निर्देशिका शैली चोपड़ा धर के साथ अनिल कपूर और सोनम कपूर ने एक बढ़िया लेस्बियन प्रेम कहानी पेश की है जिस पर बॉलीवुड को गर्व होना चाहिए।"[21]

फ़िल्म समीक्षक तरण आदर्श ने इस फ़िल्म को 5 में से 3 सितारे देकर कहा कि फ़िल्म साहसी है और प्रेम एवं ज़िंदगी के बारे में अवश्य ही विवाद उत्पन्न करेगी।[22]

बॉक्स ऑफ़िस

[संपादित करें]

एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा ने रिलीज़ के पहले दिन में ₹2.90 करोड़ की कमाई की।[3] पहले सप्ताह में फ़िल्म ने राष्ट्रीय स्तर पर ₹17.19 करोड़ कमाया।[3] थिएटर में प्रदर्शनी के दौरान राष्ट्रीय स्तर पर ₹26 करोड़ और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ₹13.86 करोड़ मिलकर फ़िल्म ने कुल ₹39.86 करोड़ की कमाई की।[3] बॉक्स ऑफ़िस मोजो द्वारा 24 फ़रवरी 2019 को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार फ़िल्म ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अनुमानित $33 करोड़ की कमाई की।[23]

गृह मीडिया

[संपादित करें]

2 अप्रैल 2019 को इस फ़िल्म को वीडियो ऑन डिमांड के लिए नेटफ़्लिक्स पर रिलीज़ किया गया था।[24][25]

ध्वनि-पट्टी

[संपादित करें]
अनाम

फ़िल्म की ध्वनि-पट्टी की सृजना में रोचक कोहली संलग्न थे जबकि शीर्ष गाने के संगीत राहुल देव बर्मन द्वारा 1942: अ लव स्टोरी के लिए लिखा गया था और गाना गुरप्रीत सैनी द्वारा फिर से लिखा गया था।[26] 8 जनवरी 2019 को सारेगामा द्वारा फ़िल्म की ध्वनि-पट्टी रिलीज़ की गई थी।[27][28][29]

ध्वनि-पट्टी
क्र॰शीर्षकसंगीतकारगायकअवधि
1."एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा"राहुल देव बर्मन द्वारा रचित
रोचक कोहली द्वारा पुनर्निर्मित
रोचक कोहली, दर्शन रावल2:35
2."गुड़ नाल इश्क़ मीठा"रोचक कोहलीहर्षदीप कौर, नवराज हंस3:39
3."गुड मॉर्निंग"रोचक कोहलीविशाल डडलानी, शैनन डॉनल्ड3:21
4."चिट्ठिएँ" कंवर ग्रेवाल5:22
5."हाउस पार्टी सॉंग" सुखविंदर सिंह, अर्जुन कानूनगो, पैरी जी॰2:52
कुल अवधि:17:49

इन्हें भी देखें

[संपादित करें]

टिप्पणियाँ

[संपादित करें]
  1. फ़िल्म में सोनम के॰ आहूजा के नाम से आकलित।
  2. 1996 में रिलीज़ हुई फ़ायर लेस्बियन प्रेम कहानी दर्शानेवाली पहली बॉलीवुड फ़िल्म है।
  1. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga gets 12A rating for references to discrimination by British Censors". ज़ी मीडिया. 26 जनवरी 2019. अभिगमन तिथि 13 फ़रवरी 2019.
  2. डोगरा, तविषि (2 फ़रवरी 2019). "Bollywood goes big on budget! Here are the top mega budget upcoming movies of 2019". द फ़ाइनैंशल एक्सप्रेस. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2019.
  3. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga – Box Office". बॉलीवुड हंगामा. 2019. अभिगमन तिथि 26 जनवरी 2020.
  4. "Bollywood's first major LGBTQ film". बी॰ बी॰ सी॰ न्यूज़. 17 फ़रवरी 2019. अभिगमन तिथि 9 मार्च 2019.
  5. मैककैहिल, माइक (2 फ़रवरी 2019). "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga review - lesbian groundbreaker is crowdpleaser". द गार्डियन. अभिगमन तिथि 9 अप्रैल 2019.
  6. शर्मा, प्रियंका (13 अक्टूबर 2017). "Anil Kapoor, Sonam Kapoor team up for Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". दी इंडियन एक्सप्रेस. अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2018.
  7. अय्यप्पन, आशामीरा (20 फ़रवरी 2018). "Regina Cassandra to make Bollywood debut, bags an important role in Sonam Kapoor's film". दी इंडियन एक्सप्रेस. अभिगमन तिथि 20 फ़रवरी 2018.
  8. "Screenplay of Sonam Kapoor's Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga To Be Part of Oscars Library". सी॰ एन॰ एन॰ न्यूज़ 18. 9 फ़रवरी 2019. अभिगमन तिथि 13 फ़रवरी 2019.
  9. शिक्षा, श्रुति (24 जनवरी 2018). "Details About Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga, Starring Sonam Kapoor And Dad Anil Kapoor". एन॰ डी॰ टी॰ वी॰. अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2018.
  10. "Ek Ladki Ko Dekha To Aisa Laga: Shoot of Anil and Sonam Kapoor-starrer kicks off in Patiala". फ़र्स्टपोस्ट. 25 जनवरी 2018. अभिगमन तिथि 25 जनवरी 2018.
  11. "Anil Kapoor starts shooting for Ek Ladki Ko Dekha To Aisa Laga, Sonam will join soon". हिंदुस्तान टाइम्ज़. 24 जनवरी 2018. अभिगमन तिथि 24 जनवरी 2018.
  12. शर्मा, प्रियंका (10 फ़रवरी 2019). "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga producer Vidhu Vinod Chopra: Have never pandered to what viewers want". दी इंडियन एक्सप्रेस. अभिगमन तिथि 11 मई 2020.
  13. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga title song: Anil Kapoor's iconic 1942 A Love Story song gets a 2019 version". हिंदुस्तान टाइम्ज़. 8 जनवरी 2019. अभिगमन तिथि 9 फ़रवरी 2019.
  14. अय्यंगर, श्रीराम (29 जनवरी 2019). "A great artiste should not be insecure, Vidhu Vinod Chopra on the original 'Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga'". सिनेस्तान. मूल से 14 फ़रवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 फ़रवरी 2019.
  15. लुआ त्रुटि मॉड्यूल:TwitterSnowflake में पंक्ति 48 पर: attempt to index local 'x' (a nil value)।
  16. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga: Sonam Kapoor, Rajkummar Rao starrer to release on February 1, 2019". दी इंडियन एक्सप्रेस. 27 जुलाई 2018.
  17. लुआ त्रुटि मॉड्यूल:TwitterSnowflake में पंक्ति 48 पर: attempt to index local 'x' (a nil value)।
  18. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". रॉटन टमेटोज़. फ़ैनडैंगो. अभिगमन तिथि 3 अगस्त 2020.
  19. चटर्जी, सैबल (1 फ़रवरी 2019). "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga Movie Review: Sonam, Anil Kapoor's Film Is A Whiff Of Fresh Air With Daring Vision And Entertainment". एन॰ डी॰ टी॰ वी॰.
  20. चौहान, गौरांग (1 फ़रवरी 2019). "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga Movie Review: An important, well-intended entertainer that deserves applause". टाइम्ज़ नाउ. अभिगमन तिथि 1 फ़रवरी 2019.
  21. भट्टाचार्य, अनन्या (1 फ़रवरी 2019). "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga Movie Review: Sonam Kapoor powers excellent lesbian love story". इंडिया टुडे. अभिगमन तिथि 1 फ़रवरी 2019.
  22. लुआ त्रुटि मॉड्यूल:TwitterSnowflake में पंक्ति 48 पर: attempt to index local 'x' (a nil value)।
  23. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". बॉक्स ऑफ़िस मोजो. अमेज़न. 2019. अभिगमन तिथि 26 फ़रवरी 2019.
  24. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". न्यू ऑन नेटफ़्लिक्स. अप्रैल 2019. अभिगमन तिथि 6 अप्रैल 2019.
  25. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". इंस्टंटवॉचर.कॉम. अप्रैल 2019. मूल से 6 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 6 अप्रैल 2019.
  26. लुल्ला, सोनिया (28 जनवरी 2019). "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga composer Rochak Kohli strikes gold on number 12". मिड-डे. अभिगमन तिथि 14 मार्च 2019.
  27. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". जियो सावन. 2019. मूल से 2 नवंबर 2021 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 नवंबर 2021.
  28. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga". सारेगामा. 2019. अभिगमन तिथि 14 मार्च 2019.
  29. "Ek Ladki Ko Dekha Toh Aisa Laga (EP)". साउंडट्रैक.नेट. 2019. अभिगमन तिथि 13 मार्च 2019.

अधिक पठन

[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ

[संपादित करें]