सामग्री पर जाएँ

एकनाथ खडसे

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
एकनाथ खडसे

वित्त मंत्री , कृषि मंत्री महाराष्ट्र राज्य[1]
कार्यकाल
३१ अक्टूबर २०१४ – ३- जून-२०१६
राज्यपाल चेन्नामनेनी विद्यासागर राव
पूर्व अधिकारी राष्ट्रपति शासन
निर्वाचन क्षेत्र मुक्ताईनगर

नेता विपक्ष महाराष्ट्र विधानसभा[2]
कार्यकाल
२००९ – २०१४

अर्थमंत्री
कार्यकाल
१९९५ – १९९९[3]

मुक्ताईनगर विधानसभाक्षेत्र के विधायक
कार्यकाल
१९९० – २०१९
उत्तराधिकारी चंद्रकांत निंबा पाटिल

राष्ट्रीयता भारतीय
राजनैतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी मंदा‌ खडसे
संबंधी रक्षा खडसे [ बहू ] (सांसद , रावेर लोकसभा क्षेत्र)
संतान रोहिणी खेवलकर (बेटी)

शारदा चौधरी (बेटी)

उपनाम * एकनाथराव खडसे
  • नाथाभाऊ.

एकनाथ गणपतराव खडसेे भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र के वरिष्ठ नेता है। वे महाराष्ट्र के मुुुक्ताईनगर के विधायक थे। वे महाराष्ट्र के राजस्व विभाग के मंत्री थे।तथा वे २०१४ -२०१६ तक महाराष्ट्र के कृषि मंत्री थे।२००९ से २०१४ तक वे महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष थे।[1]

जीवन परिचय

[संपादित करें]

एकनाथ गणपतराव खडसे लेवा समाज से हे, उनके पिताका नाम गणपतराव खडसे हे तथा उनके माता का नाम गोदावरीबाई गणपतराव खडसे हे. खडसे जी का जन्म महाराष्ट्र के मुक्ताईनगर गावमे हूवा हे. उनकी पत्नीका नाम मंदाताई खडसे हे.उनके पुत्र का नाम निखिल एकनाथ खडसे हे. उनकी दो पुत्रिया हे.उनके ज्येष्ठ पुत्री रोहिणी खडसे-खेवलकर हे वह भी एक राजनेता हे.

राजनीतिक कारकिर्द

[संपादित करें]

एकनाथ खडसेजी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुर्वात कोथळी गाव के सरपंच के पदसे की उसके पाच्यात वह १९९० में मुक्ताईनगर विधानसभा से निर्वाचित हूये और विधायक बने.१९९० से वे मुक्ताईनगर से अपराजित रहे.२०१६ में अपने पदका दुरुपयोग करणेके आरोप उन्हे पदत्याग करना पडा[2].* वह २०१४-२०१६ में महाराष्ट्र राज्य के महसूल मंत्री, कृषि मंत्री रहे.२०१० में भारतीय जनता पार्टी से उभे महाराष्ट्र विधानसभा में विरोधीपक्ष नेता चुना गया.* २०१४ महाराष्ट्र विधानसभा ुनावों में उनहाने शिवसेना के चंद्रकांत पाटिल को १०,००० मतो से हराया भारतिय जनता पार्टी के विजय पच्यात महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदार थे परंतु देवेंद्र फडणवीस जी को भारतीय जनता पार्टी द्वारा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में निश्चित किया गया.* २०१९ की विधानसभा चूनाव में भारतीय जनता पार्टीद्वारा उन्हे उम्मेदावरी नहीं दी गई अपितू उनकी कन्या रोहिणी खडसे- खेवलकर को उम्मेदवारी दी गई .[4] शिवसेना के चंद्रकांत पाटिलने रोहिनी खडसे को १९८९ मतो से हराया. १ जनवरी २०२० को एक निजी चैनल से मुुलाकात में एकनााथ खडसे ने महाराष्ट्र के भूूत पूर्व्व-मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस , गिरीष महाजन पर आरोप लगाया कि इन दोनों के कारण उन्हें ‌‌‌‌‌‌महाराष्ट्र विधानसभा २०१९ के चुनावों के लिए टिकट नहीं दिया गया[5]

१. https://web.archive.org/web/20160607073331/http://www.bbc.com/hindi/india/2016/06/160604_eknath_khadse_resign_rpu

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 12 अप्रैल 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जुलाई 2020.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जुलाई 2020.
  3. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जुलाई 2020.
  4. Mishra, Manas; Mishra (04 October 2019). "Maharashtra Assembly election 2019 : बीजेपी ने एकनाथ खडसे की जगह उनकी बेटी‌रोहीणी को दिया टिकीट, विनोद तावडे का पत्ता कटा". Khabar.ndtv.com (Hindi में). [www.khabar.ndtv.com मूल] जाँचें |url= मान (मदद) से 04 October 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 October 2019. |firsteditor-last= missing |lasteditor-last= in editor-first (मदद); |date=, |archive-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  5. समाचार पत्र., न्यूज डेस्क , अमर उजाला ,मुंबई (०२ जनेवारी २०२०). "महाराष्ट्र : एकनाथ खडसे का आरोप , मुझे टिकिट नहीं देने के पीछे फडणवीस , महाजन का हात". Amar Ujala. मूल से 3 जनवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ०३ जानेवरी २०२०.. |access-date=, |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)