उमेश यादव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

उमेश कुमार तिलक यादव (जन्म २५ अक्टूबर १९८७) एक भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी हैं जो वर्तमान में विदर्भ क्रिकेट टीम, भारतीय राष्ट्रीय टीम और इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हैं। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज, यादव ने २००८ से घरेलू स्तर पर विदर्भ के लिए खेलते आ रहे है और टीम के पहले खिलाड़ी हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट खेला है। उन्होंने मई २०१० में ज़िम्बाब्वे के खिलाफ अपने एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) में पदार्पण किया। अगले वर्ष नवंबर में, यादव ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। वह २०१५ के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे।[1]

इंडियन प्रीमियर लीग में, वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हैं। आईपीएल २०१८ की नीलामी में, उन्हें रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने ४.२ करोड़ में खरीदा था।

अंतरराष्ट्रीय करियर[संपादित करें]

मई २०१० में, यादव को चोटिल प्रवीण कुमार, के स्थान पर २०१० आईसीसी विश्व ट्वेन्टी २० के लिए भारत की टीम में बुलाया गया, लेकिन टूर्नामेंट में खेलने का मौका नहीं मिला। उसके बाद उन्हें ज़िम्बाब्वे में मेजबान और श्रीलंका के खिलाफ एक त्रिकोणीय एकदिवसीय श्रृंखला में टीम में शामिल किया गया था। यादव ने टूर्नामेंट में अपना वनडे डेब्यू मुक़ाबला जिम्बाब्वे के खिलाफ किया जिसमें भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा। २८५ के स्कोर का बचाव करते हुए यादव ने ८ ओवर में बिना विकेट लिए ४८ रन दिये। तीन मैचों में खेलते हुए, यादव ने सिर्फ एक विकेट लिया।

जिम्बाब्वे में त्रिकोणीय श्रृंखला के बाद, यादव टीम में बने रहे। उन्हें एक अन्य गेंदबाज के रूप में शामिल किया गया था जब भारत ने जुलाई में श्रीलंका का दौरा किया था। दिसंबर २०१० में भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे के बाद, यादव को राष्ट्रीय टीम से बाहर कर दिया गया था।

नवंबर २०११ में जब भारत ने वेस्टइंडीज का दौरा किया, तब भारतीय चयनकर्ताओं ने टीम के तेज गेंदबाजों को बदलने का विकल्प चुना। इस दौरान श्रीसंत और प्रवीण कुमार को टीम से बाहर करने का फैसला लिया और यादव और वरुण आरोन को उस साल की शुरुआत में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे में अच्छे प्रदर्शन के आधार पर चुना गया। यादव ने पहले मैच में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और पहली पारी में इशांत शर्मा के साथ गेंदबाजी की, हालांकि विकेट लेने में असफल रहे। दूसरी पारी में, स्पिनरों ने गेंदबाजी की शुरुआत की और यादव ने ३६ रन पर २ विकेट लेकर भारत को पांच विकेट से जीत दिलाई। यादव विदर्भ के लिए खेलने वाले पहले क्रिकेटर थे जो टेस्ट क्रिकेट खेलते थे। भारत ने दूसरा टेस्ट मैच भी जीता, और यादव ने श्रृंखला में नौ विकेट लिए।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]