जिलाधिकारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(उपायुक्त से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search

जिलाधिकारी भारतीय प्रशासनिक सेवा का एक प्रमुख प्रशासनिक पद है। जिसे अंग्रेजी में "डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर" या फिर सिर्फ "कलेक्टर" के नाम से भी जाना जाता है भारत के प्रत्येक जिले का एक अपना उपायुक्त होता है। अंग्रेज शासन के दौरान सन 1772 में लोर्ड वॉरेन हेस्टिंग द्वारा बुनियादी रूप से नागरिक प्रशासन और 'भू राजस्व की वसूली' के लिए गठित 'जिलाधिकारी' का पद, अब राज्य के लोक-प्रशासन के सर्वाधिक महत्वपूर्ण पदों में प्रमुख स्थान रखता है।

'जिलाधीश' और 'कलेक्टर' के रूप में जिले में राज्य सरकार का सर्वोच्च अधिकार संपन्न प्रतिनिधि या प्रथम लोक-सेवक होता है। जो मुख्य जिला विकास अधिकारी के रूप में सारे प्रमुख सरकारी विभागों- पंचायत एवं ग्रामीण विकास, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, आयुर्वेद, अल्पसंख्यक कल्याण, कृषि, भू-संरक्षण, शिक्षा, महिला अधिकारता, ऊर्जा, उद्योग, श्रम कल्याण, खनन, खेलकूद, पशुपालन, सहकारिता, परिवहन एवं यातायात, समाज कल्याण, सिंचाई, सार्वजनिक निर्माण विभाग, स्थानीय प्रशासन आदि के सारे कार्यक्रमों और नीतियों का प्रभावी क्रियान्वयन करवाने के लिए अपने जिले के लिए अकेले उत्तरदायी होता है।

वह जिला मजिस्ट्रेट के रूप में पुलिस अधीक्षक के साथ प्रमुखतः जिले की संपूर्ण कानून-व्यवस्था का प्रभारी होता है और सभी तरह के चुनावों का मुख्य प्रबंधक भी। साथ ही वह जनगणना-आयोजक, प्राकृतिक-आपदा प्रबंधक, भू-राजस्व-वसूलीकर्ता, भूअभिलेख-संधारक, नागरिक खाद्य व रसद आपूर्ति-व्यस्थापक, ई-गतिविधि नियंत्रक, जनसमस्या-विवारणकर्ता, भी है।

जिला मजिस्ट्रेट/कलेक्टर की शक्तियां,कार्य

जिला मजिस्ट्रेट या कलेक्टर जिले का मुख्य कार्यकारी,प्रशासनिक और राजस्व अधिकारी है।वह जिले में कार्य कर रहीं विभिन्न सरकारी एजेंसियों के मध्य आवश्यक समन्वय की स्थापना करता है। जिला मजिस्ट्रेट या कलेक्टर के कार्य और दायित्वों को निम्न रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है:

कलेक्टर, जिला मजिस्ट्रेट, डिप्टी कमिश्नर, मुख्य प्रोटोकॉल अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी, निर्वाचन अधिकारी, कलेक्टर के कर्तव्य और दायित्व निम्नलिखित है:

भूमि मूल्यांकन, भूमि अधिग्रहण, भूमि राजस्व का संग्रहण, भूमि रिकार्डों का रख-रखाव, भूमि सुधार व जोतों का एकीकरण बकाया आयकर, उत्पाद शुल्क, सिंचाई बकाया को वसूलना कृषि ऋण का वितरण बाढ़, सूखा और महामारी जैसी प्राकृतिक आपदाओं के समय आपदा प्रबंधन बाह्य आक्रमण और दंगों के समय संकट प्रबंधन जिला बैंकर समन्वय समिति का अध्यक्षता जिला योजना केंद्र की अध्यक्षता


जिला मजिस्ट्रेट के कर्तव्य और दायित्व निम्नलिखित हैं-

कानून व्यवस्था की स्थापना पुलिस और जेलों का निरीक्षण करना अधीनस्थ कार्यकारी मजिस्ट्रेटों का निरीक्षण करना अपराध प्रक्रिया संहिता के निवारक खंड से सम्बंधित मुकदमों की सुनवाई करना मृत्यु दंड के कार्यान्वयन को प्रमाणित करना सरकार को वार्षिक अपराध प्रतिवेदन प्रस्तुत करना सभी मसलों से मंडल आयुक्त को अवगत कराना मंडल आयुक्त की अनुपस्थिति में जिला विकास प्राधिकरण के पदेन अध्यक्ष के रूप में कार्य करना मुख्य प्रोटोकोल अधिकारी के कर्तव्य और दायित्व निम्नलिखित होते है-

जनगणना के कार्य को संपन्न कराना रोजमर्रा की जरुरत की वस्तुओं की आपूर्ति और वितरण पर निगरानी रखना स्थानीय जनता की समस्याओं को सुनना और उनके निवारण हेतु आवश्यक कदम उठाना जिले के युवा सरकारी अधिकारियों की गतिविधियों का निरीक्षण करना और उनके प्रशिक्षण की व्यवस्था करना मुख्य विकास अधिकारी के कर्त्तव्य और दायित्व निम्नलिखित होते हैं-

जिले के सभी विकास कार्यक्रमों व योजनाओं को लागू करना लोकतांत्रिक विकेंद्रीकरण की नीति को प्रभाव में लाना जिले में राज्य के मध्यस्थ अधिकारी की भूमिका निभाना निर्वाचन अधिकारी के कर्त्तव्य और दायित्व निम्नलिखित होते हैं-


जिले में सभी तरह के निर्वाचन कार्यों को सम्पन्न कराना जिले में होने वाले चुनावों का नियंत्रण व निरीक्षण करना।