उन्नाव बलात्कार मामला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

उन्नाव बलात्कार मामला ४ जून २०१७ को १७ वर्षिय लड़की के कथित बलात्कार की घटना को इंगित करता है। इस मामले में अब तक दो आरोप पत्र दाखिल किये जा चुके हैं। पहला आरोप पत्र ११ जुलाई २०१८ को केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो द्वारा दाखिल की गयी और इसमें १७ वर्षिय लड़की के बलात्कार के आरोपी के रूप में उत्तर प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी पाया गया।[1] दूसरा आरोप पत्र १३ जुलाई २०१८ को दाखिल की गयी जिसमें कुलदीप सिंह सेंगर और उसके भाई को तीन पुलिसकर्मियों और पाँच अन्य लोगों के साथ उन्नाव मामले को कथित तौर पर तैयार करने का आरोप लगा।[2][3][4]


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. रशीद, ओमार (2018-07-11). "Unnao gang rape case: BJP MLA Kuldeep Singh Sengar named in CBI charge sheet". द हिन्दू (अंग्रेज़ी में). आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0971-751X. अभिगमन तिथि 2018-07-15.
  2. "Unnao case: CBI files charge sheet against MLA, 9 others for criminal conspiracy". हिन्दुस्तान टाइम्स (अंग्रेज़ी में). 2018-07-14. अभिगमन तिथि 2018-07-15.
  3. "Too early to act, BJP on CBI chargesheet against MLA in Unnao gangrape case". इंडिया टुडे (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2018-07-15.
  4. "Unnao rape case: Will arrest BJP MLA Kuldeep Singh Sengar, SIT tells Allahabad HC; Highlights here". फाइनेंस एक्सप्रेस. अभिगमन तिथि 17 अप्रैल 2018.