उदंती-सीतानदी टायगर रिजर्व

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उदंती-सीतानदी बाघ संरक्षित क्षेत्र
आईयूसीएन श्रेणी द्वितीय (II) (राष्ट्रीय उद्यान)
अवस्थितिछत्तीसगढ़ , भारत
निकटतम शहरRaipur
क्षेत्रफल1,842.54 वर्ग किलोमीटर (1.98329×1010 वर्ग फुट)
स्थापित२००९

उदंती-सीतानदी बाघ संरक्षित क्षेत्र छत्तीसगढ़ में बाघों के लिए संरक्षित आवास क्षेत्र है। इसकी स्थापना वर्ष 2008-09 में हुई है। यह 1842.54 वर्ग कि.मी. वन क्षेत्र में फैला हुआ है।

इतिहास[संपादित करें]

इस अभ्यारण क्षेत्र के गठन की स्वीकृति भारत सरकार के वन एवं पर्यावरण मंत्रालय द्वारा बाघों के आवास हेतु अनुकूल परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए अपने पत्र क्रमांक 3-1/2003 पी.टी. दिनांक 05.08.2006 द्वारा दी गई। [1] इसके बाद २० फरवरी २००९ को छत्तीसगढ़ की सरकार ने इसका गठन किया। उदंती-सीतानदी टाइगर रिज़र्व का नाम उदंती अभ्यारण एवं सीतानदी अभ्यारण में प्रवाहित होने वाली नदी उदंती एवं सीतानदी के नाम पर रखा गया है |

क्षेत्र[संपादित करें]

यह अभ्यारण कुल 1842.54 वर्ग कि.मी. वन क्षेत्र में फैला हुआ है। इसमें ८५१.०९ वर्ग कि.मी. मुख्य क्षेत्र तथा 991.45 वर्ग कि.मी सहायक क्षेत्र हैं। उदंती सीतानदी टाइगर रिज़र्व में मुख्यत: साल,मिश्रित वन एवं पहाड़ी क्षेत्रों पर बांस वन है | इसके अलावा कुछ क्षेत्रों पर सागौन के प्राकृतिक वन हैं,जिसमें मुख्यत: बीजा, शीशम, तिन्सा, साज, खम्हार, हल्दू, मुड़ी, कुल्लू, कर्रा, सेन्हा, अमलतास इत्यादि प्रजाति पाई जाति हैं | टाइगर रिज़र्व में विभिन्न प्रकार के औषधीय पौधे प्रचुर मात्रा में है और टाइगर रिज़र्व का क्षेत्र जैव विविधता से परिपूर्ण है |

सन्दर्भ[संपादित करें]