उत्तर त्रिपुरा ज़िला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(उत्तर त्रिपुरा जिला से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
उत्तर त्रिपुरा ज़िला
North Tripura district
मानचित्र जिसमें उत्तर त्रिपुरा ज़िला North Tripura district हाइलाइटेड है
सूचना
राजधानी : धर्मनगर
क्षेत्रफल : 1,422 किमी²
जनसंख्या(2011):
 • घनत्व :
4,17,441
 294/किमी²
उपविभागों के नाम: विधान सभा सीटें
उपविभागों की संख्या: ?
मुख्य भाषा(एँ): कोक बोरोक, बंगाली


उत्तर त्रिपुरा भारतीय राज्य त्रिपुरा का एक जिला है। जिले का मुख्यालय धर्मनगर है। काफी संख्या में पर्यटक यहां आते हैं। यहां स्थित लक्ष्मी नारायण मंदिर, पुराण राजबरी, जम्पुई पर्वत और भवतरिणी मंदिर आदि काफी प्रसिद्ध है।[1][2]

मुख्य आकर्षण[संपादित करें]

लक्ष्मी नारायण मंदिर[संपादित करें]

लक्ष्मी नारायण मंदिर उत्तर त्रिपुरा जिले के बागबान नगर में स्थित है। मंदिर का प्रमुख आकर्षण केन्द्र यहां स्थित भगवान कृष्ण की मूर्ति है। इस मूर्ति की स्थापना कृष्णनंदा सेवायत ने 45 वर्ष पूर्व की थी। प्रत्येक वर्ष जन्माष्टमी पर यहां भव्‍य स्तर पर भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाया जाता है।

पुराण राजबरी[संपादित करें]

इस महल का निर्माण महाराजा इंद्रमनिक्या ने करवाया था। यहां एक विशाल झील खोवरा बिल भी स्थित है। यह झील लगभग 5 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैली हुई है। इस झील को राजर देघी के नाम से भी जाना जाता है। काफी संख्या में पर्यटक इस झील को देखने के लिए आते हैं। इस जगह के बारे में कालीप्रसान्ना सेन ने अपनी पुस्तक राजमाला में भी विवेचन किया है।

जम्पुई पर्वत[संपादित करें]

प्रत्येक वर्ष नवम्बर माह के दौरान जम्पुई पर्वत पर एक अनोखा ओरेंज एंड ट्ररिज्म मनाया जाता है। काफी संख्या में घरेलू व विदेशी पर्यटक इस उत्सव में हिस्सा लेते हैं और मजा करते हैं। प्राय: इस दौरान बारिश का मौसम रहता है, बावजूद इसके पर्यटकों में इस उत्सव का जोश देखा जा सकता है। इस मौसम के दौरान पर्वत से आसमान का नजारा अपने आप में काफी अद़भुत होता है। जम्पुई पर्वत से सूर्योदय और सूर्यास्‍त का खूबसूरत नजारा भी पर्यटकों को अधिक लुभाता है। इस पर्वत से मिजोरम के गांवों और खूबसूरत घाटियों का नजारा भी देखा जा सकता है।

भवतरिणी मंदिर[संपादित करें]

इस मंदिर की स्थापना 1981 ई. में शिवचतुर्थदर्शी के अवसर पर की गई थी। भवतरिणी मंदिर के समीप में भगवान शिव का मंदिर और भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थित है। प्रत्येक वर्ष शिव चतुर्थदशी और काली पूजा के अवसर पर काफी संख्या में लोग यहां आते हैं।

आवागमन[संपादित करें]

वायु मार्ग

सबसे निकटतम हवाई अड्डा अगरतला है। शहर से यह जगह 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेल मार्ग

सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन कुमारघाट है। अगरतला से कुमारघाट 140 किलोमीटर पर स्थित है।

सड़क मार्ग

उत्तर त्रिपुरा भारत के कई प्रमुख शहरों से सड़कमार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Four new districts, six subdivisions for Tripura". CNN-IBN. 26 October 2011. अभिगमन तिथि 10 April 2012.
  2. "Tripura Gazette - Creation of New Khowai district" (PDF). अभिगमन तिथि 24 January 2019.