उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद्

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उत्तराखण्ड जहाम उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद है।
उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद्
संक्षेपाक्षर UBSE
स्थापना सितम्बर 22, 2001 (2001-09-22) (17 वर्ष पहले)[1]
प्रकार शासकीय विद्यालयी शिक्षा परिषद्
मुख्यालय रामनगर
स्थान
आधिकारिक भाषा
हिन्दी
अध्यक्ष
राकेश कुमार कुँवर
पैतृक संगठन
शिक्षा विभाग, उत्तराखण्ड सरकार
जालस्थल आधिकारिक जालपृष्ठ

उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद्, उत्तराखण्ड सरकार के अधीन शिक्षा विभाग की एक संस्था है, जिसका कार्य राज्य के माध्यमिक विद्यालय के छात्रों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करना तथा हाई स्कूल एवं इण्टरमीडिएट स्तर की वार्षिक परिषदीय परीक्षाएँ आयोजित कराना है। इसकी स्थापना 2001 में की गयी तथा रामनगर में इसका मुख्यालय है। वर्तमान में 10,000 से अधिक स्कूल परिषद् से संबद्ध हैं। परिषद् प्रतिवर्ष 1300 से अधिक परीक्षा केन्द्रों पर 300,000 से अधिक परीक्षार्थियों के लिए वार्षिक परीक्षाएँ संपन्न कराती है।[2][3]

इतिहास[संपादित करें]

  • 9 फरवरी, 1996: उत्तराखण्ड क्षेत्र हेतु  उत्तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा परिषद् के क्षेत्रीय कार्यालय की स्‍थापना रामनगर (नैनीताल) में हुयी।
  • 1999: उक्‍त क्षेत्रीय कार्यालय  द्वारा प्रथम बार गढ़वाल मण्डल एवं कुमाऊँ मण्‍डल हेतु परीक्षाओं का संचालन हुआ।
  • 2001: कुमाऊँ एवं गढ़वाल मण्‍डलों हेतु परिषदीय परीक्षाएँ माध्‍यमिक शिक्षा परिषद उत्‍तर प्रदेश के तत्‍कालीन क्षेत्रीय कार्यालय रामनगर  द्वारा संचालित की गयीं।
  • 22 सितम्‍बर, 2001: उत्‍तरांचल राज्‍य गठन के उपरान्‍त उत्तरांचल शिक्षा एवं परीक्षा परिषद् की स्‍थापना  हुयी।

2002 में परिषद् द्वारा प्रथम बार परीक्षाओं का स्‍वयं आयोजन किया गया।

  • 22 अप्रैल, 2006: उत्तरांचल विधान सभा द्वारा उत्‍तरांचल विद्यालयी शिक्षा अधिनियम, 2006 का प्राख्‍यापन हुआ तथा उत्‍तरांचल विद्यालयी शिक्षा परिषद् की स्‍थापना हुयी।
  • 11दिसम्‍बर, 2008: उत्‍तराखण्‍ड विदयालयी शिक्षा परिषद् का गठन हुआ।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "About Us". ubse.uk.gov.in. अभिगमन तिथि 2015-09-18.
  2. [1]
  3. [2]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

 [3]