उत्तरकिरीट तारामंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
उत्तरकिरीट तारामंडल
Corona Borealis
तारामंडल
Corona Borealis IAU.svg
तारों की सूची
संक्षिप्त रुप CrB
दायाँ आरोहण 15h 16m 03.8205s–16h 25m 07.1526s[1] h
दिक्पात 39.7117195°–25.5380573°[1]°
क्षेत्र 179 sq. deg. (73rd)
मुख्य तारे 8
बायर तारे 24
बहिर्ग्रह वाले तारे 5
3.00m से चमकीले तारे 1
10.00 पारसैक (32.62 प्रकाशवर्ष) परिधि के तारे 0
सबसे_चमकीला_तारा α CrB (2.21m)
निकटतम तारा HD 144579
(47.36 प्रव, 14.52[2] पसै)
मॅसिये वस्तुएँ 0
उल्का बौछारें None
तारामंडल
(सीमा से सटे)
अक्षांश +90° और −50° के बीच दृश्यमान।
सबसे उत्तम दृश्य 21:00 (रात्रि 9 बजे) July के महीने में।

उत्तरकिरीट या कोरोना बोरिऐलिस खगोलीय गोले के उत्तरी भाग में स्थित एक छोटा-सा तारामंडल है। दूसरी शताब्दी ईसवी में टॉलमी ने अपनी ४८ तारामंडलों की सूची में इसे शामिल किया था और अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा जारी की गई ८८ तारामंडलों की सूची में भी यह शामिल है।

अन्य भाषाओं में[संपादित करें]

उत्तरकिरीट तारामंडल को अंग्रेज़ी में "कोरोना बोरिऐलिस" (Corona Borealis) कहते हैं, जो लातिनी भाषा से लिया गया है। इसका लातिनी में अर्थ "उत्तर का मुकुट" है क्योंकि इसके मुख्य तारे एक किरीट जैसे अर्ध-चक्र की आकृति बनाते हैं। इसे फ़ारसी में भी "ताज-ए-शुमाली" (تاج شمالی‎) कहते हैं, जिसका अर्थ भी "शुमाल (उत्तर) का ताज" है।

तारे[संपादित करें]

उत्तरकिरीट तारामंडल में २४ तारें हैं जिन्हें बायर नाम दिए जा चुके हैं, जिनमें से अगस्त २०११ तक ३ के इर्द-गिर्द ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करते हुए पाए गए थे। इस तारामंडल में कोई भी तारा २ खगोलीय मैग्नीट्यूड से अधिक चमक नहीं रखता। याद रहे कि मैग्नीट्यूड की संख्या जितनी ज़्यादा होती है तारे की रौशनी उतनी ही कम होती है। इसके कुछ मुख्य तारे और अन्य खगोलीय वस्तुएँ इस प्रकार हैं:[3]

  • अल्फ़ा उत्तरकिरीट - इस तारे का बायर नाम "अल्फ़ा कोरोनाए बोरिऐलिस" (α CrB या α Coronae Borealis) है, लेकिन इसे ऐल्फ़ॅक्का (Alphecca) और जॅम्मा (Gemma) भी कहा जाता है। यह वास्तव में दो मुख्य अनुक्रम तारों का एक द्वितारा है।
  • बेटा उत्तरकिरीट - इस तारे का बायर नाम "बेटा कोरोनाए बोरिऐलिस" (β CrB या β Coronae Borealis) है, लेकिन इसे नूसाकान (Nusakan) भी कहा जाता है। यह भी दूरबीन से देखने पर एक द्वितारा ही ज्ञात होता है।
  • टी उत्तरकिरीट - इस तारे का बायर नाम "टी कोरोनाए बोरिऐलिस" (T CrB या T Coronae Borealis) है, लेकिन इसे "ब्लेज़ स्टार" (Blaze Star) भी कहा जाता है। यह एक बार-बार फटने वाला नोवा है जिस से यह तारा समय-समय पर एकदम से तीव्रता से प्रज्वलित हो उठता है और फिर शांत हो जाता है।
  • एबॅल २०६५ (Abell 2065) - यह एक ४०० से अधिक आकाशगंगाओं का गुच्छा है लेकिन यह सभी पृथ्वी से बहुत धुंधली नज़र आती हैं। इनमें से सब से रोशन आकाशगंगा की चमक १६वीं मैग्नीट्यूड की है।

चित्रदीर्घा[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Corona Borealis, constellation boundary". The Constellations. International Astronomical Union. अभिगमन तिथि 27 February 2014.
  2. van Leeuwen, F. (2007). "Validation of the new Hipparcos reduction". Astronomy and Astrophysics. 474 (2): 653–664. arXiv:0708.1752. डीओआइ:10.1051/0004-6361:20078357. बिबकोड:2007A&A...474..653V. Vizier catalog entry
  3. DK Publishing. "The Practical Astronomer". Penguin, 2010. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780756673246.