ईश्वरवादी अस्तित्ववाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सोरेन किर्केगार्द, गैब्रियल मार्शल आदि द्वारा प्रवर्तित अस्तित्ववाद की ईश्वरवादी धारा के केन्द्र में ईश्वर है। इनके अनुसार संसार में निरर्थक जीवन को सार्थक व सारपूर्ण बनाने के लिये निष्ठा तथा ईश्वर में आस्था अनिवार्य है।