ईचम्पति गायत्री

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ईचम्पति गायत्री
198.jpg
पृष्ठभूमि की जानकारी
जन्मनामगायत्री वसन्त शोभा
जन्म9 नवंबर 1959
मूलआंध्र प्रदेश, भारत
शैलियांभारतीय शास्त्रीय संगीत, फिल्म संगीत
वीणा वादक
वाद्ययंत्र वीणा

ईचम्पति गायत्री जिन्हे वीणा गायत्री " के रूप में भी जाना जाता है। एक वीणा वादक हें जो पारंपरिक कर्नाटक संगीत शेली में वादन करती हें।[1] उन्हें तमिलनाडु संगीत और ललित कला विश्वविद्यालय के पहले कुलपति के रूप में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता द्वारा नवंबर 2013 में नियुक्त किया गया था। [2][3] ईचम्पति गायत्री को 2002 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, 1984 में तमिलनाडु सरकार की ओर से डॉ एमजीआर का "कालीमामणि" पुरस्कार और 2011 में रोटरी क्लब, मद्रास से लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड मिला। 2011 में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता ने ईचम्पति गायत्री को चेन्नई, तिरुवयारु, मदुरै और कोयम्बटूर में तमिलनाडु सरकार के संगीत महाविद्यालयों के मानद निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया। वर्ष 2017 में विश्व तमिल विश्वविद्यालय ने ईचम्पति गायत्री को डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया।

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

ईचम्पति गायत्री का जन्म 9 नवंबर 1959 को, कमला अश्वथामा, वीणा विदुषी, और तेलुगु फिल्म उद्योग में फिल्म संगीत निर्देशक जी अश्वथामा से हुआ। [4] उनके पिता ने उनका नाम गायत्री वसन्त शोभा रखा। गायत्री ने पहले अपने माता-पिता और बाद में संगीता कलानिधि टी एम त्यागराजन से प्रशिक्षण लिया, [5] जो एक कर्नाटक गायक और संगीतकार हें।

कैरियर[संपादित करें]

गायत्री ने 9 साल की उम्र में कार्यक्रम देने शुरू किया जब श्री पार्थसारथी स्वामी सभा ने उन्हें 1968 में अपने संत त्यागराज महोत्सव में प्रस्तुति देने के लिए आमंत्रित किया। गायत्री ने भारत और विदेशों में कई संगठनों से पुरस्कार और उपाधि प्राप्त की। [6] गायत्री ने कई एल्बम भी जारी किए हैं।

उन्होंने विदेशों में जेसे संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, जर्मनी, सिंगापुर और मलेशिया में भी कई प्रदर्शन किये हैं। वह संगीतकार ए॰ आर॰ रहमान का 'जन गण मन' 'गान ट्रैक के जाने माने कलाकारों मे से एक थी।

पुरस्कार[संपादित करें]

  • 1973 में विलक्षण प्रतिभाओं की पहचान के लिए ऑडिशन के बिना उन्हे 13 वर्ष की आयु में ऑल इंडिया रेडियो द्वारा सीनियर ग्रेड से सम्मानित किया गया।
  • 1984 में कालीममणि तमिलनाडु राज्य पुरस्कार डॉ एम जी आर द्वारा।
  • 2002 में डॉ अब्दुल कलाम से संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार। ) | [7]
  • 1999 में मध्य प्रदेश सरकार की ओर से 'कुमार गंधर्व' पुरस्कार।
  • संगीता कलशिखमनी, 2001 द इंडियन फाइन आर्ट्स सोसायटी, चेन्नई द्वारा। [8]
  • 2009 में श्री पार्थसारथी स्वामी सभा से 'संगीता कलसारथी'पुरस्कार। [4]
  • 2011 में रोटरी ईस्ट चेन्नई से लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार।


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Vice - Chancellor". Tamil Nadu Music and Fine Arts University. मूल से 2 मार्च 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 August 2015.
  2. "Vice Chancellor: University will have unique approach towards music". B. Vijayalakshmi. Deccan Chronicle. 22 November 2013. अभिगमन तिथि 24 August 2015.
  3. "Gayathri is music varsity V-C". The Hindu. 21 November 2013. अभिगमन तिथि 24 August 2015.
  4. Balasubramanian, V. (17 December 2009). "On a nostalgic November evening". The Hindu.
  5. "Gayathri Echampati". indiamusicinfo.com. मूल से 14 December 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 December 2008.
  6. "On a nostalgic November evening". The Hindu. 17 December 2009. अभिगमन तिथि 24 August 2015.
  7. "Sangeet Natak Akademi Puraskar (Akademi Awards)". Sangeet Natak Akademi. मूल से 17 February 2012 को पुरालेखित.
  8. "Sangeetha Kala Sikhamani' conferred on Gayathri". The Hindu. 19 December 2001. अभिगमन तिथि 24 August 2015.


बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]