इल्मेनाइट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
इल्मेनाइट (Ilmenite)
Ilmenite-155036.jpg
Ilmenite from Miass, Ilmen Mts, Chelyabinsk Oblast', Southern Urals, Urals Region, Russia. 4.5 x 4.3 x 1.5 cm
सामान्य
वर्ग आक्साइड खनिज
रासायनिक सूत्र iron titanium oxide, FeTiO3
पहचान
वर्ण Iron-black; gray with a brownish tint in reflected light
क्रिस्टल हैबिट Granular to massive and lamellar exsolutions in hematite or magnetite
क्रिस्टल प्रणाली Trigonal - rhombohedral
ट्विनिंग {0001} simple, {1011} lamellar
क्लीवेज absent; parting on {0001} and {1011}
फ्रैक्चर Conchoidal to subconchoidal
टैनेसिटी Brittle
मोह्ज़ स्केल सख्तता 5–6
चमक Metallic to submetallic
ऑप्टिकल गुण Uniaxial (–)
बाइरिफ्रिंजैंस Strong; O = pinkish brown, E = dark brown (bireflectance)
स्ट्रीक Black
स्पैसिफिक ग्रैविटी 4.70–4.79
डायफनैटी Opaque
अन्य लक्षण weakly magnetic
सन्दर्भ [1][2][3]
इल्मेनाइट की क्रिस्टल संरचना

इल्मेनाइट (Ilmenite) एक खनिज है जो प्रधानतः लौह टाइटनेट है। यह टाइटेनियम-लौह आक्साइड खनिज है जिसका आदर्श सूत्र FeTiO3 है। यह काला या ईस्पात-धूसर (steel-gray) रंग का ठोस है जो थोड़ा-थोड़ा चुम्बकीय गुण रखता है। वाणिज्यिक दृष्टि से इल्मेनाइट, टाइटेनियम का सबसे महत्वपूर्ण अयस्क है।[4]

अनेक उद्योगों में टाइटेनियम के उपयोग की वृद्धि होने के कारण इल्मेनाइट के खनन तथा उत्पादन की ओर विश्व के अनेक शक्तिशाली राष्ट्रों का ध्यान आकर्षित हुआ है। यद्यपि इल्मेनाइट आग्नेय एवं परिवर्तित शिलाओं का नितांत सामान्य भाग है, तथापि भारत में समुद्रतटीय बालू के निक्षेपों के अतिरिक्त कोई भी निक्षेप ऐसा नहीं है जहाँ आर्थिक एवं वाणिज्य की दृष्टि से खननकार्य लाभद्रप्रद हो। दक्षिण भारत में तटीय बालू के लगभग १०० मील लंबे भूखंड में, पश्चिमी तट पर क्विलन के उत्तर में नंदीकारिया से कन्याकुमारी तक तथा पूर्वी तट पर किनारे किनारे तिरूनेलवेली जिले में लिपुरूम तक, इल्मेनाइट अधिक मात्रा में पाया जाता है। इल्मेनाइट बालू के साहचर्य में रयूटाइल, ज़िरकन, सिलीमेनाइट तथा मोनाज़ाइट आदि खनिज के रूप में मिलता है। कुछ कम महत्व की इल्मेनाइटयुक्त तटीय बालू मालाबार, रामनाथपुरम् , तंजोर, विशाखपत्तनम्, रत्नगिरि तथा गंजाम जिलों में भी मिली है।

केरल में इल्मेनाइटयुक्त तटीय बालू को खोदकर समीप के सांद्रण कारखानों को भेज दिया जाता है, जहाँ ९५ प्रतिशत शुद्धता का इल्मेनाइट प्राप्त किया जाता है।

इल्मेनाइट का उपयोग आजकल 'टाइटेनियम श्वेत' नामक श्वेत तैल रंग के निर्माण में किया जाता है। टाइटेनियम श्वेत 'सफेदा' (लेड सल्फेट) से भी अधिक श्वेत होता है। इसका और इसके यौगिकों का उपयोग तैल रंगों के अतिरिक्त कागज, चर्म, सूती कपड़े, रबर, प्लैस्टिक आदि अनेक उद्योगों में होता है। धात्विक टाइटेनियम का उपयोग विशेष प्रकार के इस्पात के निर्माण में किया जाता है।

उत्पादन-विश्व में इल्मेनाइट उत्पादन की दृष्टि से भारत का स्थान दूसरा है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Webmineral data
  2. Mineral Handbook
  3. Ilmenite on Mindat.org
  4. Heinz Sibum, Volker Günther, Oskar Roidl, Fathi Habashi, Hans Uwe Wolf, "Titanium, Titanium Alloys, and Titanium Compounds" in Ullmann's Encyclopedia of Industrial Chemistry 2005, Wiley-VCH, Weinheim. doi:10.1002/14356007.a27 095