इरावती कर्वे

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इरावती कर्वे (15 दिसम्बर, 1905 - 11 अगस्त, 1970) भारत की शिक्षाशास्त्री, लेखिका एवं नृवैज्ञानिक (एंथ्रोपोलोजिस्ट) थीं।

परिचय[संपादित करें]

इरावती कर्वे का जन्म बर्मा में हुआ था किन्तु वे पुणे मे पढ़ी-लिखीं और बड़ी हुईं। उन्होने सन् १९२८ में मुम्बई विश्वविद्यालय से समाजशास्त्र में मास्टर डिग्री प्राप्त की। इसके पश्चात १०३० में बर्लिन विश्वविद्यालय से नृविज्ञान में पीएचडी की उपाधि ली। वे पुणे के डेक्कन कॉलेज के समाजशास्त्र तथा नृविज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष रहीं। उन्होने सन् १९४७ में दिल्ली में हुए भारतीय विज्ञान कांग्रेस के नृविज्ञान प्रभाग की अध्यक्षता की। उन्होने अकादमिक एवं अन्य विषयों पर मराठीअंग्रेजी दोनों भाषाओं में बहुत अधिक लिखा। 'युगान्त' के लिए उनको साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]