इनविक्टस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
"इनविक्टस / Invictus"
William Ernest Henley Vanity Fair 1892-11-26.jpg
२६ नवम्बर १८९२ के 'वैनिटी फ़ेअर' पत्रिका में विलियम अर्नस्ट हॅन​ली का चित्र
लेखक विलियम अर्नस्ट हॅन​ली
देश इंगलैन्ड
भाषा अंग्रेज़ी
शैली भावुक कविता
प्रकाशक बुक ऑफ़ वरसिस
Book of Verses
माध्यम प्रकार पत्रिका
प्रकाशन तिथि १८८८

इनविक्टस (Invictus) ब्रिटिश कवि विलियम अर्नस्ट हॅन​ली (१८४९-१९०३) द्वारा लिखित एक छोटी अंग्रेज़ी-भाषा की कविता है। 'इनविक्टस' लातिनी भाषा का शब्द है और इसका अर्थ है 'अजेय', यानि 'जो कभी हराया न जा सके'। कुछ समीक्षकों ने इस कविता के प्रकाशन के बाद कहा की 'इनविक्टस शब्द हर उस आदमी का नारा है जो जीवन की मुश्किलों को आँख दिखाता है और उनका निडरता से सामना करता है।'[1]

पृष्ठभूमि[संपादित करें]

१३ वर्ष की आयु में विलियम अर्नस्ट हॅन​ली को हड्डियों का तपेदिक हो गया। कुछ सालों बाद यह बढ़कर उनके पाँव तक पहुँच गया और चिकित्सकों ने कहा कि उन्हें बचाने के लिए उनकी टांग को घुटने के नीचे से काट देना होगा। इस तरह १७ वर्षों की उम्र में वह अपनी एक टांग खो बैठे। स्टोइक विचारधारा से उन्हें मानसिक बल मिला और वे इस 'इनविक्टस' नामक कविता को लिखने के लिए प्रेरित हुए। एक ही टांग होने के बावजूद उन्होंने ५३ वर्षों की आयु तक एक सक्रीय और सफल जीवन जिया।[1]

कविता[संपादित करें]

कविता के बोल और उनका अर्थ इस प्रकार हैं:[2]

अंग्रेज़ी लिप्यन्तरण हिन्दी अनुवाद

Out of the night that covers me,
Black as the pit from pole to pole,
I thank whatever gods may be
For my unconquerable soul.

In the fell clutch of circumstance
I have not winced nor cried aloud.
Under the bludgeonings of chance
My head is bloody, but unbowed.

Beyond this place of wrath and tears
Looms but the Horror of the shade,
And yet the menace of the years
Finds and shall find me unafraid.

It matters not how strait the gate,
How charged with punishments the scroll.
I am the master of my fate:
I am the captain of my soul.

आउट ऑफ़ द नाइट दैट कवर्ज़ मी,
ब्लैक ऐज़ द पिट फ़्रॉम पोल टू पोल​,
आए थ़ैन्क व्हॉट​ऍवर गॉड्ज़ मे बी
फ़ॉर माए अनकॉन्करेबल सोल.

इन द फ़ॅल क्लच ऑफ़ सर्कमस्टान्स​
आए हैव नॉट विन्स्ड नॉर क्राइड अलाउड​.
अंडर द ब्लजनिन्गज़ ऑफ़ फ़ेट​
माए हॅड इज़ ब्लडीड बट अनबाउड​.

बियॉन्ड दिस प्लेस ऑफ़ रैथ़ ऐन्ड ट्येर्ज़​
लूम्ज़ बट द हॉरर​ ऑफ़ द शेड,​
ऐन्ड यॅट द मॅनॅस​ ऑफ़ द यर्ज़​
फ़ाइन्ड्ज़ ऐन्ड शैल फ़ाइन्ड मी अनअफ़्रेड.

​इट मैटर्ज़ नॉट हाओ स्ट्रेट द गेट​,
हाओ चार्ज्ड विद पनिश्मॅन्ट्स द स्क्रोल​.
आए ऐम द मास्टर ऑफ़ माए फ़ेट​:
आए ऐम द कैप्टन ऑफ़ माए सोल

मुझे ढक-रही इस अँधेरी रात में,
जो सिरे-से-सिरे तक काली है,
मैं सभी सच्चे देवताओं को शुक्रिया कहता हूँ,
अपनी अजेय आत्मा के लिए.

परिस्थितियों की भयानक जकड़ में
मैं न चीख़ा न चहरे पर शिकन लाया
नसीब की कठोर मार से
मेरा सिर लथपथ हुआ, पर झुका नहीं.

इस आंसुओं और रोष भरी जगह के बाद
केवल मौत का भयानक अँधेरा है,
लेकिन मुझे धमकाने वाले काल ने
मुझे अभय पाया है और अभय पायेगा.

मुक्ति की राह चाहे जितनी कठिन हो,
क़िस्मत में चाहे जितनी सज़ाएँ लिखी हो.
अपने भाग्य का स्वामी केवल मैं हूँ:
अपनी आत्मा का कप्तान केवल मैं हूँ.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

[3] roc

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Art of Manliness, Brett McKay, Kate McKay, pp. 118, HOW Books, 2011, ISBN 978-1-4403-1200-7, ... After contracting tuberculosis of the bone at age twelve, and having one leg amputated below the knee at age eighteen ... Invictus, Latin for 'unconquerable,' has become the watchword of every man who looks life's challenges in the eye ...
  2. Homiletic Review: An International Magazine of Religion, Theology and Philosophy, Volume 57, pp. 168, Religious Newspaper Agency, 1909, ... we print W.E. Henley's poem, entitled - Invictus ... Out of the night that covers me ...
  3. आधार पाठ यहाँ सम्मिलित करें