आर गांधी (डिप्टी गवर्नर)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
आर गांधी

भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर
कार्यकाल
03 अप्रैल 2014 से वर्तमान

भारतीय रिजर्व बैंक के कार्यपालक निदेशक

जन्म 1956

श्री आर गांधी को 03 अप्रैल 2014 से तीन वर्षों की अवधि के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक का उप गवर्नर नियुक्त किया गया है। इससे पूर्व वे बैंक के कार्यपालक निदेशकों में से एक थे। [1]

विभाग[संपादित करें]

श्री गाँधी को बैंकिंग परिचालन और विकास विभाग, गैर-बैंकिंग पर्यवेक्षण विभाग, शहरी बैंक विभाग, व्यय और बजट नियंत्रण विभाग, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, विधि विभाग, परिसर विभाग और जोखिम निगरानी विभाग दिए गए हैं।

करियर[संपादित करें]

श्री गाँधी वर्ष 1980 में भारतीय रिज़र्व बैंक में नियुक्त हुए। यहाँ इन्होंने भुगतान प्रणाली और सूचना प्रौद्योगिकी, वित्तीय बाजार (मुद्रा, प्रतिभूति, फोरेक्स और पूंजी बाजार) परिचालन और विनियमन, मुद्रा परिचालन और प्रबंध, कार्मिक और मानव संसाधन प्रबंध, औद्योगिक ऋण तथा अंतर्राष्ट्रीय बैंकिंग जैसे विभिन्न क्षेत्रों विशेषज्ञता और अनुभव प्राप्त किया है। वे तीन वर्षों के लिए भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) में विशेष नियुक्ति पर भी रह चुके हैं। वे रिज़र्व बैंक के दो क्षेत्रीय कार्यालयों के प्रमुख भी रहे तथा उन्होंने बैंकिंग प्रौद्योगिकी विकास और अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद के निदेशक का कार्यभार भी संभाला है। वे तीन वर्षों के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर के कार्यपालक सहायक भी रहे। वे भिन्न-भिन्न समयावधि में पांच वर्षों तक चार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निदेशक मंडल में रिज़र्व बैंक द्वारा नामित निदेशक भी रहे। वे विभिन्न समितियों, कार्य समूहों और कार्य दलों से संबद्ध भी रहे हैं।

व्यक्तिगत जीवन व शिक्षा[संपादित करें]

श्री गाँधी का जन्म 1956 में हुआ। उन्होंने अन्नामलाई विश्वविद्यालय, तमिल नाडु से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त की है। उन्होंने प्रबंध सूचना प्रणाली में दि अमेरिकन यूनिवर्सिटी, वाशिंगटन और पूंजी बाजार में सिटी यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूयॉर्क से स्नातकोत्तर स्तरीय प्रमाण-पत्र भी प्राप्त किए हैं। उन्होंने गणितीय अर्थशास्त्र, इकॉनोमेट्रिक्स, विकास बैंकिंग और अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्र पर दि अमेरिकन यूनिवर्सिटी और जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी, वाशिंगटन से विशेष पाठ्यक्रम भी किए हैं। उनकी तकनीकी शिक्षा में आईबीएम एजुकेशन, सिडनीसे सिस्टम प्रोग्रामिंग में प्रमाण-पत्र पाठयक्रम और ओआरएसीएलई, एसेंबली लैंगवेज, नेटवर्किंग आदि शामिल हैं। उन्होंने गांधीवादी विचारधारा पर मदुरै विश्वविद्यालय, तमिल नाडु, भारत से प्रमाण-पत्र प्राप्त किया है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "श्री आर. गांधी भारतीय रिज़र्व बैंक के उप गवर्नर नियुक्त". भारतीय रिज़र्व बैंक. 3 अप्रैल 2014. नामालूम प्राचल |access date= की उपेक्षा की गयी (|access-date= सुझावित है) (मदद)