आर्मीनियाई जनसंहार स्मरण दिवस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
जनसंहार स्मरण दिवस
Tsitsernakaberd24.04.2009.JPG
अनुयायी आर्मेनिया, नागोर्नो-काराबाख़, कैलीफोर्निया
प्रकार राष्ट्रीय
उद्देश्य आर्मीनियाई जनसंहार की सालगिरह
तिथि 24 अप्रैल
Frequency वार्षिक

आर्मीनियाई जनसंहार स्मरण दिवस (आर्मेनियाई: Մեծ Եղեռնի զոհերի հիշատակի օրMets Yegherrni zoheri hishataki or, तुर्कीयाई : Ermeni Soykırımı Anma Günü) या अंग्रेज़ी: Armenian Genocide memorial day,[1] आर्मेनिया और नागोर्नो-काराबाख़ में एक राष्ट्रीय छुट्टी का दिन है जो की २४ अप्रैल को आर्मेनियाई लोगों के द्वारा १९१५ के आर्मीनियाई जनसंहार की याद में मनाया जाता है।[1][2] इस दिन येरेवन आर्मेनिया में हज़ारों लोग जनसंहार स्मारक की तरफ जाते हैं और अमर ज्योति पर मारे गये लोगों की याद में फूल चढाते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

24 अप्रैल की तारीख २४ अप्रैल २०१५ को आर्मेनियाई बुद्धिमान लोगों के काँस्तेनतुनिया (वर्तमान में इंस्तांबुल) से निर्वासन की सालगिरह है जिसके बाद आर्मीनियाई जनसंहार का शुरु होना माना जाता है। पहली सालगिरह इस नरसंहार के बचे हुए लोगों ने इस्तांबुल के सेंट ट्रिनिटी गिरिजाघर में सन १९१९ में आयोजित की थी।[3] यहाँ आर्मेनियाई जनसमुदाय के तमाम महत्वपूर्ण व प्रसिद्ध लोगों ने इसमे भाग लिया। १९१९ में इसके पहले सालगिरह के बाद यह तारीख आर्मेनियाई जनसंहार का राष्ट्रीय स्मरण दिवस बन गयी।[3]


९ अप्रैल १९७५ को अमेरिका की संसद ने १४८वें संयुक्त प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए २४ अप्रैल को मानव की मानव के प्रति अमानवता के राष्ट्रीय स्मरण दिवस के रूप में मान्यता दी।[4] हालाँकि यह प्रस्ताव अमेरिकी सीनेट की न्यायिक समिति में अमेरिकी राष्ट्रपति गेराल्ड आर. फ़ोर्ड के तगडे विरोध की वजह से गिर गया। उनका मानना था कि ऐसा प्रस्ताव मंजूर होने से अमेरिका के तुर्की से संबंध खराब हो सक्ते हैं।[5]

१९८८ में सोवियत आर्मेनिया ने आधिकारिक तौर पर २४ अप्रैल को स्मरण दिवस के रूप में मान्यता दे दी।[6]

In 1997 the California State Assembly declared 24 April as a Day of Remembrance for the Armenian Genocide of 1915–1923, and for the victims of the en:Sumgait Pogroms of 1988 and Baku Riots of 1990.[6]:232

The day is also chosen by Assyrian/Syriacs to commemorate the Assyrian Genocide especially in diaspora.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. जोन्स, ऐडम (2010). Genocide: A Comprehensive Introduction. टेलर & फ्राँसिस. प॰ 156. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780203846964. 
  2. Hovannisian, Richard G., सं (1992). The Armenian Genocide: History, Politics, Ethics. Palgrave Macmillan. प॰ 339. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780312048471. 
  3. "At the Origins of Commemoration: The 90th Anniversary Declaring April 24 as a Day of Mourning and Commemoration of the Armenian Genocide". Armenian Genocide Museum. 10 March 2009. http://www.genocide-museum.am/eng/31.03.2009.php. 
  4. पूरा लेख
  5. गुंटर, माइकल एम. (15 अप्रैल 2011). Armenian History and the Question of Genocide. पैलग्रैव मैकमिलन. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-230-11059-5. http://books.google.com/books?id=5z9dkgAACAAJ. अभिगमन तिथि: 23 अप्रैल 2013. 
  6. Bloxham, Donald (28 April 2005). The Great Game of Genocide: Imperialism, Nationalism, and the Destruction of the Ottoman Armenians. Oxford University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-19-150044-2. http://books.google.com/books?id=2OdoyKqocnoC&pg=PT10. 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]