आर्टेसियन कुएं

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मेसल पिट पर आर्टेसियन कुआँ.
भूवैज्ञानिक स्तर आर्टेसियन कुएं को ऊपर की तरफ उठाता है.
एक आर्टेसियन कुएं की स्किमैटिक
चित्र:Artesianwell.jpg
ड्रम भरने के लिए सड़क किनारे पाइप सहित आर्टेसियन कुआँ.
ऑस्ट्रेलिया के जल स्रोत के लिए ग्रेट आर्टेसियन बेसिन को देखें

आर्टेसियन जलभृत (एक्विफर) , भूमिगत पानी वाला एक सीमित जलभृत होता है जिसका जल पंप किये बिना ही एक कुएं के माध्यम से ऊपर की तरफ प्रवाहित होता है; ऐसे कुओं को आर्टेसियन कुआं कहा जाता है. प्राकृतिक दबाव की मात्रा उचित होने पर पानी जमीन की सतह तक भी पहुंच सकता है, ऐसी स्थिति में इस कुएं को बहता हुआ आर्टेसियन कुआं कहा जाता है.

जलभृत, चूना पत्थर या रेतीले पत्थर की तरह नरम चट्टान की एक परत होती है, जो अंतर्गमन मार्ग से पानी को अवशोषित करती है. छिद्रपूर्ण पत्थर अभेद्य चट्टान या मिट्टी के बीच ही सीमित होते हैं. यही दबाव को अधिक रखता है, इसलिए जब पानी को कोई रास्ता मिलता है तो यह गुरुत्वाकर्षण बल को काबू कर नीचे जाने की बजाए ऊपर चढ़ने लगता है. जलभृतों का रिचार्ज तब होता है जब उसके रिचार्ज जोन का जल स्तर कुएं के मुहाने से ज्यादा ऊंचाई पर होता है.

अगर आसपास की चट्टानों का दबाव पर्याप्त है तो जीवाश्म जलभृत भी आर्टेसियन हो सकते हैं. कई नए तेल के कुओं को दबावक्रित करने की प्रक्रिया भी इसी प्रकार की होती है.

उत्पत्ति[संपादित करें]

आर्टसियन कुओं का नामकरण फ्रांस के पूर्व प्रांत आर्टोइस के नाम पर किया गया है, जहां 1126 से कार्थुसियन भिक्षुओं द्वारा कई आर्टेसियन कुओं की खुदाई की गई थी.[1]

आर्टेसियन कुओं के उदाहरण[संपादित करें]

ऑस्ट्रेलिया[संपादित करें]

  • ग्रेट आर्टेसियन बेसिन दुनिया का सबसे विशाल और सबसे गहरा आर्टेसियन बेसिन है जो ऑस्ट्रेलियाई महाद्वीप के 23% हिस्से पर फैला हुआ है.

संयुक्त राज्य अमेरिका[संपादित करें]

आसपास आर्टेसियन कुओं की मौजूदगी के कारण संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ शहरों को आर्टेसिया नाम से बुलाया जाता था. आर्टेसियन कुओं वाली अन्य जगहों में शामिल हैं:

  • ऐशलैंड, विस्कॉन्सिन
  • बेवर क्रीक पार्क, हिल काउंटी, हाव्रे, मोंटाना
  • ब्लैक बेल्ट (क्षेत्र), अलबामा
  • बॉइलिन्ग स्प्रिंग्स, पेंसिल्वेनिया
  • ब्राउन पैलेस होटल, डेनवर, कोलोराडो
  • कैम्प लुईस, न्यू जर्सी
  • कैर्मल, इंडियाना
  • शटावा, मिसिसिपी
  • चेस्टरटाउन, न्यूयॉर्क
  • डालास, ऑरेगन
  • डो रन, मिसौरी
  • एवामोर गुड्बी, लुइसियाना
  • फाउंटेन प्वाइंट, मिशिगन
  • गेज़, ओकलाहोमा
  • गिल्लिस स्प्रिंग्स, ट्रुटलेन काउंटी, जॉर्जिया
  • हिक्सविले, ओहायो
  • जेरोम, मिसौरी
  • केंटवुड, लूसियाना
  • ला क्रोस, विस्कॉन्सिन
  • लेक्सिंगटन, केंटुकी
  • लांग आइलैंड, न्यूयॉर्क
  • लिनवुड, वाशिंगटन
  • मेम्फिस, टेनेसी
  • मोन्यूमेंट वैली, यूटा
  • ओलंपिया, वाशिंगटन
  • पहरुम्प, नेवादा
  • पाल्म स्प्रिंग्स, कैलिफोर्निया
  • पोटोमैक, इलिनोइस
  • प्रटविले, अलबामा
  • सैंडविच, मैसाचुसेट्स
  • सॉल्ट लेक सिटी, यूटा
  • सिएरा माद्रे, कैलिफोर्निया
  • सिल्वर स्प्रिंग्स, फ्लोरिडा, दुनिया के सबसे बड़े आर्टेसियन स्प्रिंग स्थलों में से एक
  • सिट्का, अलास्का
  • स्मोक होल कैवर्न, सेनेका रॉक्स, पश्चिम वर्जीनिया
  • साउथ डकोटा (मिसौरी नदी के पूर्व का अधिकांश क्षेत्र)
  • टेलफेयर काउंटी, जॉर्जिया (कम से कम 50 कुएं हैं)
  • वाशबर्न विस्कॉन्सिन
  • वाटरव्लियेट मिशिगन
  • विलियम्सटाउन, मैसाचुसेट्स
  • वुडवर्ड, ओकलाहोमा

कनाडा[संपादित करें]

  • व्हाईट रॉक, ब्रिटिश कोलंबिया
  • वाटरशेड पार्क, ब्रिटिश कोलंबिया
  • पेम्बेरटन ब्रिटिश कोलंबिया
  • अर्नेस, मनिटोबा
  • टिनी, ओंटारियो
  • वासागा बीच, ओंटारियो
  • ब्रोक्कटन, ओंटारियो; वॉकरटन त्रासदी के बाद से वॉकरटन में पानी का वर्तमान और अधिक सुरक्षित स्रोत
  • टीज़वॉटर, ओंटारियो
  • स्ट्रैटफ़ोर्ड, ओंटारियो
  • आर्डोईस, नोवा स्कोटिया
  • वेमाउथ, नोवा स्कोटिया

इटली[संपादित करें]

  • एक्विलेनिया, फ्रिउली-वेनेज़िया गिउलिया

फिजी[संपादित करें]

  • यकारा वैली, विटी लेवु[2]

स्पेन[संपादित करें]

  • सेल्ला, टेरवेल, आरागॉन

युनाइटेड किंगडम[संपादित करें]

  • ट्राफलगार स्क्वायर फव्वारे, लंदन (1844 से करीब 1890); ये कुएं करीब 130 मीटर गहरे हैं.

फ्रांस[संपादित करें]

  • पैरिस का ग्रेनेल वेल (1841 में खोला गया) जो कि करीब 600 मीटर गहरा है.
  • पैसी वेल, फ्रांस (1860 में खोला गया)

कई वर्षों तक ओलंपिया बीयर (ट्यूमवाटर, वाशिंगटन) आर्टेसियन कुएं से प्राप्त पानी से ही बनती थी. कंपनी द्वारा अपने प्रचार में भी शराब बनाने में आर्टेसियन से प्राप्त पानी के इस्तेमाल का खूब जमकर उपयोग किया गया. हालांकि विज्ञापनों में ये कभी नहीं बताया गया कि आर्टेसियन का पानी क्या होता है, हमेशा ये दावा किया जाता रहा कि यह पानी आर्टेसियन की पौराणिक आबादी द्वारा नियंत्रित किया जाता है.[3] एक बार जब इस शराब कंपनी को एक अन्य बड़ी कंपनी द्वारा अधिगृहित कर लिया गया, तो आर्टेसियन जल का इस्तेमाल रोक दिया गया, और इसी तरह विज्ञापन अभियान को भी रोक दिया गया.[4]

कनाडा के ओंटारियो के क्रीमोर शहर की क्रीमोर स्पिंग्स ब्रीवरी भी शराब बनाने में खासतौर पर एक आर्टेसियन कुएं के पानी का ही इस्तेमाल करती है. यह पानी क्रीमोर स्प्रिंग से आता है जो कि मालिकों में से एक की संपत्ति में स्थित है. इस पानी को हर रोज 10,000 लीटर तक पानी ढोने वाले ट्रक से ब्रीवरी तक पहुंचाया जाता है; प्रत्येक ट्रक में इतना पानी होता है जिससे कि एक बैच की शराब तैयार हो जाती है.

'एच2ओलंपिया (H2Olympia): आर्टेसियन वेल एडवोकेट्स' नामक अभियान के तहत ओलंपिया शहर में फिलहाल बचे एकमात्र सार्वजनिक कुएं के आर्टेसियन जल के इस्तेमाल को बचाए रखने के लिए कोशिशें की जा रही हैं.[5]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • पीने का पानी
  • द्रव यांत्रिकी
  • ग्रेट आर्टेसियन बेसिन
  • हाइड्रोजीओलॉजी
  • कानात
  • एल्फ्रेडिनो राम्पी

टिप्पणियां[संपादित करें]

  1. फ्रांसिस गिएस और जोसेफ़ गिएस, कैथेड्रल, फोर्ज, और वाटरव्हील सबटाइटल "टेक्नोलॉजी एंड इन्वेन्शन इन दी मिडिल एज़". हार्पर परेनीअल, 1995 आईएसबीएन 0-06-016590-1, पृष्ठ 112.
  2. http://www.npr.org/templates/story/story.php?storyId=131656523
  3. केल्ली विज्ञापन एवं विपणन: ओलंपिया बीयर: ए गुड कैम्पेन ऐक्सेलरैट्स दी डैथ ऑफ ए ब्रांड . 2008.11.07 को एक्सेस किया गया.
  4. बीयर एड्वोकेट: ओलंपिया बीयर. 2008.11.07 को एक्सेस किया गया.
  5. "इट्स स्टिल दी वॉटर" थर्सटन काउंटी पीयूडी रिपोर्ट - कनेक्शन्स, समर 2009, वॉल्यूम 3, संख्या 3 - http://www.wpuda.org/PDF_files/Connections/Summer2009final.pdf