आरणमुल कनाटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
आरणमुल दर्पण

आरणमुल कनाटी (मलयालम: ആറന്മുളക്കണ്ണാടി / आऱन्मुळक्कण्णाटि , अर्थ आरणमुल आईना) केरल के आरणमुल नामक गाँव में हाथों के साथ बनाया जाने वाला एक विशेष दर्पण है जिसे बनाने के लिए धातुओं के घोल का प्रयोग किया जाता है। धातुओं के मिश्रण के साथ बने होने के कारण यह साधारण शीशों से अलग है। इसे बनाने में प्रयुक्त धातुओं के मिश्रण के बारे में पूरे तौर पर कोई जानकारी नहीं मिलती और इसे विश्वकर्मा (मलयालम വിശ്വകർമ്മജർ) परिवार के रहस्य के तौर पर बचा कर रखा जा रहा है। धातुविज्ञानियों का कहना है कि इसमें तांबे और टिन के मिश्रण का प्रयोग किया गया है। इसके बाद इसको कई दिन पालिश करने के बाद चमकाया जाता है।[1] यह ८ प्रमुख्य वस्तुओं "अष्टमंगल्यम" में से एक है जो केरल में एक दुल्हन के लिए शुभ मानी जाती हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Aranmula mirrors". The Hindu. Kollam, India. 2012-07-13.