आद्य समाकल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
F(x) = (x3/3)-(x2/2)-x+c का स्लोप फिल्ड ; showing three of the infinitely many solutions that can be produced by varying the arbitrary constant C.

कैलकुलस में, फलन f का आद्य समाकल (primitive integral) अथवा प्रतिअवकलज (antiderivative) फलन F होता है जिसका अवकलज मूल फलन f होता है। इसी को संकेत रूप में ऐसे लिख सकते हैं-

F = f.[1][2]

'आद्य समाकल' को प्रति-अवकलज (एन्टीडेरिवेटिव), आद्य फलन (primitive functio) या अनिश्चित समाकल (indefinite integral) भी कहते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Stewart, James (2008). Calculus: Early Transcendentals (6th संस्करण). Brooks/Cole. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-495-01166-5.
  2. Larson, Ron; Edwards, Bruce H. (2009). Calculus (9th संस्करण). Brooks/Cole. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-547-16702-4.