आकाशदीप (कहानी संग्रह)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

आकाशदीप जयशंकर प्रसाद का तीसरा कहानी संग्रह है, जिसका प्रकाशन सन् १९२९ ई॰ में भारती भंडार, इलाहाबाद से हुआ था।[1] इसमें संकलित कहानियों की कुल संख्या उन्नीस है।[2]

संकलित कहानियाँ[संपादित करें]

  1. आकाशदीप
  2. ममता
  3. स्वर्ग के खंडहर में
  4. सुनहला साँप
  5. हिमालय का पथिक
  6. भिखारिन
  7. प्रतिध्वनि
  8. कला
  9. देवदासी
  10. समुद्र-संतरण
  11. वैरागी
  12. बनजारा
  13. चूड़ीवाली
  14. अपराधी
  15. प्रणय-चिह्न
  16. रूप की छाया
  17. ज्योतिष्मती
  18. रमला
  19. बिसाती

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. जयशंकर प्रसाद, विनिबंध, रमेशचन्द्र शाह, साहित्य अकादेमी, नयी दिल्ली, पुनर्मुद्रित संस्करण-2015, पृष्ठ-94.
  2. प्रसाद की सम्पूर्ण कहानियाँ एवं निबन्ध, संपादन एवं भूमिका- डॉ॰ सत्यप्रकाश मिश्र, लोकभारती प्रकाशन, इलाहाबाद, संस्करण-2009, पृष्ठ-35.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]