अस्फ्यक्सिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अस्फ्यक्सिया (Asphyxia) यानी दम घुटना यह एक एसी परिस्थिति है जिस में शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हो जाने से मृत्यु हो जाती है। ऑक्सीजन की आपूर्ति ऊतकों और अंगों तक कम पूछने के करण व्यक्ति कोमा में जा सकता है या व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है। परिस्थिति जो अस्फ्यक्सिया का कारण है वो है, पानी की अन्दर, वातावरण में ऑक्सीजन की कम आपूर्ति, किसी वस्तु से सास रुकना या अचानक सदमे से। अस्फ्यक्सिया भी तीन प्रकार मैं भटा हुआ है- मैकेनिकल अस्फ्यक्सिया, केमिकल अस्फ्यक्सिया और सेक्सुअल अस्फ्यक्सिया।

मैकेनिकल अस्फ्यक्सिया अस्फ्यक्सिया जिस में किसी बहारी वस्तु का इस्तमाल कर के किसी व्यक्ति में ऑक्सीजन की आपूर्ति कर के मृत्यु की जाए उसे मैकेनिकल अस्फ्यक्सिया कहा जयगा। मैकेनिकल अस्फ्यक्सिया के भी कही प्रकार है-

  • फांसी
  • स्मूथरिंग
  • घुट (choking)
  • गरोत्तिंग
  • बस्डोला

केमिकल अस्फ्यक्सिया किसी भी हानिकारक हवा या केमिकल गैस जब शरीर में ऑक्सीजन की जगह ले लेता है तो ऑक्सीजन की आपूर्ति ऊतकों और अंगों तक कम पूछती है। जेसे की "कार्बन मोनोऑक्साइड" हेमोग्लोबिन के साथ मिल के ऑक्सीजन की आपूर्ति कम कर देती है।

विश्लेषण[संपादित करें]

अस्फ्यक्सिया का विश्लेषण करने पर यह पता लग जाता है कि मृत्यु आत्महत्या,मनुष्य वघ-संबंधी या आकस्मिक है। शरीर का अच्छे से विश्लेषण कर के और उस जगह का विश्लेषण कर के। जसे की-

  • शरीर पर रसी या किसी और वस्तु के निशान होना।
  • शरीर का रंग बदल जाना।
  • शरीर पर सुजन देखाई देना।
  • गले की नसों दबना
  • फांसी लगाई हो तो ह्योइड की हाड़ी तोटना।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • "Asphyxia Origin". Online Etymology Dictionary. Retrieved 19 July 2015.
  • Sir James Kay-Shuttleworth (1834). The Physiology, Pathology, and Treatment of Asphyxia. Longman, Rees, Orme, Brown, Green & Longman.