अशोक वाटिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

साँचा:19 जनवरी 2016राम जी की कृपा से अमित अवस्थी के द्वारा

अशोकवाटिका लंका में स्थित एक सुरम्य वाटिका का नाम था।

अशोक वाटिका रावण की नगरी श्रीलंका में ह जो की अशोक वाटिका के नाम से जानी जाती ह वहाँ रामायण के अनुसार वहाँ एक वट वृक्ष था जो की अब नहीं है उसी जगह माता सीता को रावण ने रखा था, ये विज्ञानं भी साबित कर चूका है कि यहाँ कभी एक वट वृक्ष था ,,,

अशोक वाटिका एक सुन्दर रावण की नगरी थी जहा भयानक रक्षको ने माता सीता के चारो और पहरा दे रखा था माता सीता एक दिव्य कन्या थी वे शेषनाग पर सयन किये हुए भगवन विष्णु का एक अंग माता लक्ष्मी का ही रूप थी , लंका में कई एसी प्राचीन वस्तुए मिली है जो राम और रावण को आपस में जोडती है रावण एक बुधिमान पंडित और वेदों का ज्ञाता था[कृपया उद्धरण जोड़ें]

श्रीराम और रावण के बीच भयंकर युद्ध हुआ, सीता माता को छुड़ाने के लिए ।

रावण को पता था कि श्रीराम शाक्षात नारायण के अवतार है फिर भी उसने जानबूझकर प्रभु श्रीराम से युद्ध किया ,अपने तथा अपने कुल के उत्थान के लिए। क्योकि उसे पता था नारायण से युद्ध हारने और जितने दोनों में ही मेरी कीर्ति बढ़ेगी,श्रीराम के साथ मेरा भी नाम अमर हो जाएगा ।