अशोक पनगडि‍या

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अशोक पनगडि‍या को चि‍कि‍त्‍सा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए 2014 में भारत सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित किया।[1] वे राजस्‍थान राज्य से हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "पद्म पुरस्कारों की घोषणा". नवभारत टाईम्स. 25 जनवरी 2013. अभिगमन तिथि 27 जनवरी 2014.


डॉ अशोक कुमार पनगढ़िया को मिले पदम श्री एवं अन्य अलंकारों का मैं सम्मान करता हूंl

आज का मेरा एक्सपीरियंस बहुत ही घटिया रहा| ऐसा घटिया की शायद मेरी जिंदगी का सबसे घटिया दिन था| क्योंकि पिछले 2 दिन से लगभग 50 कॉल मैंने इनके क्लीनिक पर किए| लेकिन एक बार भी रिस्पांस नहीं मिला और ई-मेल के जरिए भी अप्वाइंटमेंट मांगा तो उसका भी 2 दिन तक कोई रिस्पांस नहीं मिला |नेट पर खली विज्ञापन डाल रखे हैं पदम श्री अवार्ड और अन अलंकारों के लेकिन हॉस्पिटल में जाने के बाद ऐसा कुछ भी नजर नहीं आया| पहला वहां का स्टाफ आपसे सीधे मुंह बात भी नहीं करेगा| 10 बार बोलने पर एक बार जवाब मिल रहा था| वह भी आधा अधूरा और इमरजेंसी पूछने पर और भी लाइन में आने को कहा| जो कि मेरे साथ हुआ| यह सब पुरस्कार और अलंकार तो एक विज्ञापन मात्र है| इसके अलावा और कुछ नहीं| पेसेंट भले मर जाए लेकिन लाइन से आएगा| क्योंकि वहां आपको कोई अटेंड करने वाला नहीं और नंबर कब आएगा भगवान् ही मालिक है| मैं तो भगवान से प्रार्थना करूंगा की ऐसे डॉक्टरों से दोबारा पाला ना पड़े नहीं तो डॉक्टरों से ही विश्वास उठ जाएगा|