अशोक कुमार (हॉकी खिलाडी)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अशोक कुमार (जन्म 1 जून 1950 मेरठ, उत्तर प्रदेश) भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी रहे हैं। वह भारतीय हॉकी के दिग्गज खिलाडी मेजर ध्यानचंद के बेटे हैं। उन्हें भारत सरकार ने 1974 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया। अशोक ने तीन विश्व कप खेले, वह 1975 के विश्व कप जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के सदस्य थे।[1] उन्होंने पहला वर्ल्ड कप 1971 में खेला जिसमे भारतीय टीम ने कांस्य पदक प्राप्त किया उसके बाद 1973 के विश्व कप की रजत पदक विजेता टीम के भी सदस्य रहे। अशोक ने दो बार ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया, पहली बार 1972 में म्यूनिख में भारत ने कांस्य पदक प्राप्त किया और फिर 1976 में मॉन्ट्रियल में भारत सातवें स्थान पर रहा।[2]

अशोक कुमार भारत के लिए तीन एशियाई खेलों (1970, 1974 और 1978) के हिस्सा भी रहे और तीनो में ही भारत ने रजत पदक प्राप्त किया।[3]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "उद्घाटन समारोह में विश्व कप की शान बढ़ाएंगे 1975 के चैंपियन". Amar Ujala. अभिगमन तिथि 2019-11-28.
  2. Garg, Chitra (2015). 100 Prasiddh Bhartiya Khiladi. Rajpal & Sons. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7028-756-8.
  3. author/abhishek-pandey (2018-08-29). "ध्यानचंद के महान हॉकी खिलाड़ी बेटे की कहानी, 'करिश्माई गोल' से भारत को जिताया था एकमात्र हॉकी वर्ल्ड कप". Lokmat News Hindi. अभिगमन तिथि 2019-11-28.