स्वामी अवधेशानंद गिरि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(अवधेशानंद गिरि से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
स्वामी अवधेशानंद गिरि महाराज
Swami Avdheshanand Giri Ji Maharaj.jpg
धर्म हिंदू
संप्रदाय दशनामी संप्रदाय
मंदिर मृत्युंजय महादेव मंदिर, हरिहर आश्रम, भारत माता मंदिर, हरिद्वार
आदेश जूना अखाड़ा
व्यक्तिगत विशिष्ठियाँ
राष्ट्रीयता भारतीय
जन्म अवधेशानंद गिरि
खुर्जा, बुलंदशहर ज़िला, उत्तर प्रदेश, भारत
पद तैनाती
अनुक्रम आचार्य महामंडलेश्वर, जूना अखाड़ा
धार्मिक जीवनकाल
गुरु स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि, स्वामी अवधूत प्रकाश महाराज
काम Eternal Wisdom, Vision of Self, Towards Divinity "You live only once"
वर्त्तमान पद अध्यक्ष, हिंदू धर्म आचार्य सभा, जूना पीठाधीश्वर
पद अध्यक्ष, हिंदू धर्म आचार्य सभा, जूना पीठाधीश्वर
वेबसाइट https://www.prabhupremisangh.org/

स्वामी अवधेशानंद गिरि जी महाराज [1] हिंदू आध्यात्मिक गुरु, संत, लेखक और दार्शनिक हैं। स्वामी अवधेशानंद गिरि जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर हैं, उन्हें जूना अखाड़े का प्रथम पुरुष मान जाता है। जूना अखाड़ा भारत में नागा साधुओं का सबसे पुराना और सबसे बड़ा समूह है। स्वामी अवधेशानंद गिरि ने लगभग दस लाख नागा साधुओं को दीक्षा दी है और वे उनके पहले गुरु हैं। [2] [3] [4] इनका आश्रम कनखल, हरिद्वार में है।

स्वामी अवधेशानंद गिरि हिंदू धर्म आचार्य सभा के अध्यक्ष हैं और वर्ल्ड काउंसिल ऑफ रिलीजियस लीडर्स के बोर्ड मेंबर भी हैं। [5] [6] [7]

प्रारंभिक जीवन और संन्यास[संपादित करें]

स्वामी अवधेशानंद गिरि का जन्म उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के खुर्जा में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। ऐसा बताते हैं कि अपने बाल्य काल में स्वामी अवधेशानंद गिरि अक्सर अपने पिछले जन्म के बारे में बात करते थे। उन्होंने 17 साल की उम्र में संन्यास के लिए घर छोड़ दिया।

घर छोड़ने के बाद उनकी मुलाकात स्वामी अवधूत प्रकाश महाराज से हुई। स्वामी अवधूत प्रकाश महाराज योग के विशेषज्ञ और वेद शास्त्रों के बडे जानकार थे। स्वामी अवधेशानंद गिरि ने उनसे वेदांत दर्शन और योग की शिक्षा ली।[8]

गहन ध्यान और तप के बाद वर्ष 1985 में जब स्वामी अवधेशानंद जब हिमालय की कंदराओं से बाहर आए तो उनकी मुलाकात अपने गुरु, पूर्व शंकराचार्य स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि से हुई। स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि से उन्होंने संन्यास की दीक्षा ली और अवधेशानंद गिरि के नाम से जूना अखाड़ा में प्रवेश किया।[9]

वर्ष 1998 के हरिद्वार कुंभ में, जूना अखाड़े के सभी संतों ने मिलकर स्वामी अवधेशानंद गिरि जी को आचार्य महामंडलेश्वर के रूप में नियुक्त किया। [10]

वह श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के सदस्य हैं। [11] [12] [13]

वर्तमान में, स्वामी अवधेशानंद गिरि प्रतिष्ठित समनव्य सेवा ट्रस्ट, हरिद्वार के अध्यक्ष हैं, जिसकी भारत और विदेश में कई शाखाएँ हैं। इस ट्रस्ट में विश्व प्रसिद्ध, भारत माता मंदिर, हरिद्वार शामिल हैं। [14] [15]

अंतर्राष्ट्रीय मंच[संपादित करें]

स्वामी अवधेशानंद गिरि ने जलवायु परिवर्तन, विभिन्न संप्रदायों में भाईचारे के लिए कई अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों की अध्यक्षता की है और उन्हें नियमित रूप से कई अंतरराष्ट्रीय मंचों पर आमंत्रित भी किया गया है। वह वर्ल्ड काउंसिल ऑफ रिलीजियस लीडर्स के बोर्ड मेंबर हैं। स्वामी अवधेशानंद गिरि मई 2019 में आयोजित 'Responsible Leadership Summit' के लिए UNO में मुख्य वक्ता थे, जिसमें दुनिया भर से समाज के विभिन्न वर्गों के लगभग 200 प्रतिनिधियों ने भाग लिया था। [16] [17]

इज़रायल के राष्ट्रपति के साथ स्वामी अवधेशानंद गिरि

2011 में, स्वामी अवधेशानंद गिरि ने 2010 में कनाडा के विनिपेग में आयोजित इंटरफेथ जी 8 शिखर सम्मेलन में भाग लिया। वह 2009 में मेलबर्न में आयोजित "विश्व धर्म संसद" में मुख्य वक्ता थे। उसी वर्ष उन्होंने जेरूसलम में 'हिंदू यहूदी शिखर सम्मेलन' में भाग लिया। 2008 में स्वामी अवधेशानंद गिरि ने इज़रायल की Presidential Conference "FACING TOMORROW' में भी भाग लिया। [18] [19]

अगस्त 2017 में, स्वामी अवधेशानंद गिरि ने "संवाद II: ग्लोबल इनिशिएटिव ऑन कॉन्फ्लिक्ट अवॉइडेंस एंड एनवायरनमेंटल कॉन्शसनेस" में भाग लिया जो कि म्यांमार के यांगून में हुआ था। इस सम्मेलन का उद्घाटन उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने किया और समापन यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। यह सम्मेलन हिंदू धर्म आचार्य सभा के सहयोग से विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन (भारत), सीतागु इंटरनेशनल बौद्ध अकादमी और विश्वविद्यालय, म्यांमार और जापान फाउंडेशन, जापान द्वारा आयोजित किया गया था। [20]

सितंबर 2019 में स्वामी अवधेशानंद गिरि मंगोलिया में उलान बातर में आयोजित संवाद-III: ग्लोबल हिंदू-बुद्धीस्ट इनिशिएटिव ऑन कॉन्फ्लिक्ट अवोइडेंस में हिस्सा लिया। भारत से श्री सुशील मोदी (बिहार के उपमुख्यमंत्री), श्री गुरुमूर्ति (अध्यक्ष VIF) और श्री श्री रविशंकर भी जापान, कोरिया, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड के उच्च राजदूतों भी इस आयोजन में शामिल थे। [21]

सामाजिक पहल[संपादित करें]

हरिद्वार में, एक वृद्धाश्रम और एक फिजियोथेरेपी सेंटर समन्वय सेवा ट्रस्ट के तहत चल रहा है। मध्य प्रदेश में भोपाल में एक शैक्षिक और जल संरक्षण के लिए शिव गंगा परियोजना परियोजना चल रही है। [22]

दर्शन और उपदेश[संपादित करें]

स्वामी अवधेशानंद गिरि को वेदांत और प्राचीन भारतीय दर्शन विषयों का गहरा ज्ञान है। वह संस्कृत में स्नातक हैं और 2008 में उन्हें विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन से डी लिट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया था। ।

आध्यात्मिकता[संपादित करें]

स्वामी अवधेशानंद गिरि विभिन्न टीवी चैनलों जैसे संस्कार टीवी और कई बड़े आयोजनों जैसे कुंभ मेला, [14] [23] एनसाइक्लोपीडिया ऑफ हिंदूइज़्म और विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन (देश, समाज और व्यक्ति) जैसे कार्यक्रमों में एक नियमित वक्ता हैं। [3] [24] [25] [26]

स्वामीजी विभिन्न समाचार पत्रों में बतौर स्तंभकार लेख भी लिखते हैं। [27] [28] [29]

स्वामी अवधेशानंद गिरि के कई हाई-प्रोफाइल अनुयायी हैं। बॉलीवुड से लेकर राजनेताओं तक उनके हरिद्वार स्थित हरिहर आश्रम में कई हाई प्रोफाइल लोग पहुंचते रहे हैं। अक्टूबर 2019 में, भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने हरिहर आश्रम का दौरा किया। वो आईआईटी रुड़की के दीक्षांत समारोह में शामिल होने हरिद्वार गए थे। [30] 2018 में, गृह मंत्री अमित शाह और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत [31] भी हरिहर आश्रम गए थे। [32] [33] [34]

ग्रन्थसूची[संपादित करें]

स्वामी अवधेशानंद अपने व्याख्यानों के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कई पुस्तकें लिखी हैं और भारतीय आध्यात्मिक दर्शन के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से लिखा है। [35]

  • Vision of Self, 2013, p:272,  
  • Eternal Wisdom, 2014, p:154,  
  • अमृत प्रवचन, अवधेशानंद गिरि जी, 2019, p:149, ASIN: B083C2WWKC
  • ब्रह्मा ही सत्य है, 2016, p:192, language:Hindi
  • You live only once, 2019, p:182,  

पुरस्कार और सम्मान[संपादित करें]

  • चैंपियंस ऑफ चेंज (पुरस्कार) 2019 सांप्रदायिक सद्भाव और आध्यात्मिक जागृति के क्षेत्र में उनके प्रयासों के लिए। इस पुरस्कार को पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी द्वारा विज्ञान भवन, नई दिल्ली में प्रदान किया गया था [36]
  • SIES एमिनेंस अवार्ड 2019, [37]
  • कैलिफ़ोर्निया, अमेरिका में हिंदू पुनर्जागरण पुरस्कार 2008 (यह पुरस्कार हिंदुस्तान टुडे पत्रिका द्वारा उन हस्तियों को दिया जाता है जो हिंदू धर्म के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं और उसे सुदृढ़ करते हैं) [22]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Feb 10, TNN. "International Yog Festival to see star-studded line-up | Dehradun News - Times of India". The Times of India (अंग्रेज़ी में).
  2. "हिंदी खबर, Latest News in Hindi, हिंदी समाचार, ताजा खबर". Patrika News (hindi में).सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  3. "Vimarsha: Talk by Shri Swami Avdheshanand Giri ji Maharaj, Acharya Mahamandaleshwar of the Juna Akhara on 'Desh, Samaj aur Vyakti'". www.vifindia.org (अंग्रेज़ी में). 3 October 2018.
  4. त्रिपाठी, संजय (10 February 2020). "राम मंदिर के मॉडल को लेकर VHP खफा, उपाध्यक्ष चंपत राय बोले- नए डिजाइन पर बना तो लगेंगे 25 साल". www.abplive.com.
  5. "The Hindu Dharma Acharya Sabha". BAPS. मूल से 26 अप्रैल 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  6. "Sixth Hindu Acharya Sabha" (PDF). ArshaVidya. मूल से 26 दिसंबर 2016 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  7. "बुलंदशहर: मंत्रोच्चारण के बीच हुआ श्री कृष्णा धाम के लिए भूमि पूजन". Patrika News (hindi में). मूल से 6 मार्च 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  8. Academy, Himalayan. "Hinduism Today Magazine". www.hinduismtoday.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 26 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  9. "भारत माता मंदिर के संस्थापक महामंडलेश्वर स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि ब्रह्मलीन, आज दी जाएगी समाधि". Dainik Bhaskar. 26 June 2019. मूल से 30 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  10. "The famous akhadas at Kumbh mela". Hindustan Times (अंग्रेज़ी में). 13 January 2019. मूल से 2 फ़रवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  11. "अमरनाथ यात्रा की तारीख घोषित, एक अप्रैल से रजिस्ट्रेशन शुरू, 23 जून को रवाना होगा पहला जत्था". Amar Ujala. मूल से 17 फ़रवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  12. Service, Tribune News. "Amarnath board reconstituted". Tribuneindia News Service (अंग्रेज़ी में).
  13. "42-day Shri Amarnathji Yatra to begin on 23rd June". Northlines. 14 February 2020.
  14. "ताकतवर-रसूखदारः साधु की शक्ति". aajtak.intoday.in.
  15. Sharma, Aman (14 January 2020). "Centre weighs a dozen names for Ram Temple Trust". The Economic Times.
  16. "Israeli leaders meet with leaders of Eastern faith traditions". The Jerusalem Post | JPost.com. मूल से 14 नवंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  17. "NSA Doval meets Hindu, Muslim religious leaders". The Asian Age. 11 November 2019. मूल से 11 नवंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  18. "Responsible Leaders Summit". theCRL.org (अंग्रेज़ी में).
  19. "Religious leaders call for action on the environment, poverty and peace | BWNS". Bahá’í World News Service (अंग्रेज़ी में). 24 June 2010.
  20. "Global Hindu Buddhist Initiative". Samvad.vifindia.org. मूल से 23 नवंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  21. "अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में पीएम मोदी के साथ भाग लेंगे उपमुख्यमंत्री". Bhaskar.com.
  22. "Swami Avdheshananda Giri, Hindu of the year". hinduismtoday.com. मूल से 26 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  23. "स्वामी अवधेशानंद गिरि से मिले मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र, कहा 'समय से पूरे होंगे कुंभ के काम'". Amar Ujala. मूल से 31 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  24. "आज स्वामी अवधेशानंद बताएंगे जीवन संवारने के मंत्र". Patrika News (hindi में). मूल से 19 मार्च 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  25. Automation, Bhaskar (25 February 2020). "अवधेशानंद गिरि महाराज व्याख्यानमाला में बताएंगे अध्यात्म और सुखद जीवन का राज". Dainik Bhaskar.
  26. "जल और धरा को बचाना युवाओं की जिम्मेदारी : स्वामी अवधेशानंद गिरी महाराज Sharanpur News". Dainik Jagran.
  27. "चिंतन, चरित्र और स्वभाव से अपने गुरु जैसा बनना जरूरी, सिर्फ ज्ञान लेना सार्थक नहीं". Dainik Bhaskar. 15 July 2019. मूल से 13 अगस्त 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  28. "Panchjanya eMagazine". Panchjanya eMagazine. मूल से 4 जून 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2020-06-04.
  29. गिरि, स्वामी अवधेशानंद (14 April 2020). "मनुष्य को अपने अहंकार से ऊपर उठकर समष्टि का सम्मिलित हित देखना होगा". www.jagran,com. मूल से 20 अप्रैल 2020 को पुरालेखित.
  30. "President to meet head of Juna Akhara today". TOI. 4 October 2019. मूल से 5 जनवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  31. "RSS chief arrives in Haridwar on 2-day visit". TOI. 27 June 2018. मूल से 5 जनवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  32. "2016-05-11 : Took blessing of Swami Avdheshanand Giri ji Maharaj at Ujjain Kumbh". Amit Shah Official. 11 May 2016.
  33. "स्वामी अवधेशानंद से मिले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पत्नी संग की भगवान शिव की पूजा, तस्वीरें..." Amar Ujala. मूल से 9 नवंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  34. "विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महिलाएं आगे आएं: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद". Dainik Jagran. मूल से 5 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.
  35. Giri, Acharya Swami Avdheshanand (2013). Vision of Self (अंग्रेज़ी में). Partridge Publishing. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-4828-1047-9.
  36. "Sri Avdheshanand Giri Maharaj gets champions of Change Award 2019". Business News This Week (अंग्रेज़ी में). 24 January 2020.
  37. "South Indian Education Society". www.siesedu.net. मूल से 28 अक्तूबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 जून 2020.