अल-मुस्तद्रक अल अल-सहीहीन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

अल-मुस्तद्रक अल अल-सहीहीन (अंग्रेज़ी:Al-Mustadrak ala al-Sahihayn) प्रसिद्ध मुहद्दिस (हदीस कलेक्टर) हकीम अल-निशापुरी (निशापुर ईरान में स्थित है) द्वारा लिखित पांच खंड हदीस संग्रह है। उन्होंने इसे 1002-1003 ई. में लिखा था, जब वे 72 वर्ष के थे। हदीस की प्रसिद्ध पुस्तकों में से एक है।

अल-धाहाबी ने इस पर शोक व्यक्त किया: यह बेहतर होता अगर अल-हकीम ने इसे कभी संकलित नहीं किया होता।" [1]

अन्य भाषाओं में भी इसका अनुवाद हुआ है।

सुन्नी इस्लाम की कुतुब अल-सित्ताह -सहाह सत्ता (छह प्रमुख हदीस संग्रह) के साथ इसे भी महत्वपूर्ण माना जाता है।

हदीस-संग्रह[संपादित करें]

हदीस के निम्नलिखित छः विश्वसनीय संग्रह हैं जिनमें 29,578 हदीसें संग्रहित हैं :

  1. सहीह बुख़ारी : संग्रहकर्ता—अबू अब्दुल्लाह मुहम्मद-बिन-इस्माईल बुख़ारी, हदीसों की संख्या—7225
  2. सहीह मुस्लिम : संग्रहकर्ता—अबुल-हुसैन मुस्लिम बिन अल-हज्जाज, हदीसों की संख्या—4000
  3. जामी अत-तिर्मिज़ी : संग्रहकर्ता—अबू ईसा मुहम्मद बिन ईसा तिर्मिज़ी, हदीसों की संख्या—3891
  4. सुनन अबू दाऊद : संग्रहकर्ता—अबू दाऊद सुलैमान बिन अशअस सजिस्तानी, हदीसों की संख्या—4800
  5. सुनन अन-नसाई : संग्रहकर्ता—अबू अब्दुर्रहमान बिन शुऐब ख़ुरासानी, हदीसों की संख्या—5662
  6. सुनन इब्ने माजह : संग्रहकर्ता—मुहम्मद बिन यज़ीद बिन माजह, हदीसों की संख्या—4000

यह भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Haddad, Dr G F. "Al-Hakim Al-Naysaburi". As-Sunnah Foundation of America. मूल से 1 July 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 March 2020.