अलीबाग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
अलीबाग
Alibag
अलीबाग is located in महाराष्ट्र
अलीबाग
अलीबाग
महाराष्ट्र में स्थिति
निर्देशांक: 18°38′N 72°53′E / 18.64°N 72.88°E / 18.64; 72.88निर्देशांक: 18°38′N 72°53′E / 18.64°N 72.88°E / 18.64; 72.88
देश भारत
प्रान्तमहाराष्ट्र
ज़िलारायगढ़ ज़िला
जनसंख्या (2011)
 • कुल20,743
भाषा
 • प्रचलितमराठी
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)

अलीबाग (Alibag) भारत के महाराष्ट्र राज्य के रायगढ़ ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है।[1][2]

विवरण[संपादित करें]

अलीबाग कोंकण क्षेत्र में, महाराष्ट्र के पश्चिमी तट पर, अरब सागर के किनारे बसा हुआ एक छोटा-सा शहर है। 17वीं शताब्दी में बनी इस जगह की उन्नति छत्रपति शिवाजी महाराज ने की थी। 1852 में इसे एक तालुका घोषित किया गया। 'महाराष्ट्र का गोआ' तीन तरफ से पानी से घिरे होने के कारण अलीबाग में बहुत सारे सुंदर तट हैं। सभी तटों के किनारे नारियल और सुपारी के पेड़ होने से सारा इलाका किसी उष्णकटिबंधीय समुद्र तट जैसा लगता है। यहाँ का मौसम बहुत सुहावना होता है और तट बिल्कुल अनछुए से लगते हैं। यहाँ की हवा प्रदूषणरहित व ताज़ी है और तटों का दृष्य किसी स्वर्ग जैसा लगता है। अलीबाग बालूतट पर काली रेत आश्चर्यचकित करती है। अलीबाग एक तटीय शहर है, इसलिए यहाँ के स्थानीय व्यंजन मछली से बने होते हैं। मौसम सुहावना रहता है जहाँ तापमान न बहुत ज्यादा होता है और न बहुत कम। अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस होता है। यहाँ आने के लिए सर्दियाँ सबसे अच्छा व उपयुक्त समय होता है। मुंबई से 30 किमी दूर अलीबाग, परिवहन के सभी साधनों, जैसे रेल, वायु और सड़क से भलीभाँति जुड़ा है। मुंबई का अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा और पेन का रेलवे स्टेशन इसके सबसे निकट है।

चित्र दिर्घा[संपादित करें]

अलीबाग के विभिन्न स्थान
समुद्र तट 
कोलाबा किले का पश्चीम भाग 
कोलाबा किले में गणेश मंदिर, सन् १८५५-६२ 
शिवाजी स्मारक 

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "RBS Visitors Guide India: Maharashtra Travel Guide Archived 2019-07-03 at the Wayback Machine," Ashutosh Goyal, Data and Expo India Pvt. Ltd., 2015, ISBN 9789380844831
  2. "Mystical, Magical Maharashtra Archived 2019-06-30 at the Wayback Machine," Milind Gunaji, Popular Prakashan, 2010, ISBN 9788179914458