अलाउद्दीन साबिर कलियरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मखदूम अलाउद्दीन अली अहमद साबिर.[1]
कलियर शरीफ दरगाह,रुड़की, उत्तराखंड 3.jpg
हजरत मखदूम अलाउद्दीन अली अहमद साबिर का मकबरा कलियर शरीफ शरीफ
धर्म इस्लाम
अन्य नाम मखदुम-उल-आलम, सबिर पिया, मखदूम, गंज ए शकर के लाल, अली अहमद, बाबा सबीर, चराग ए चिश्त
व्यक्तिगत विशिष्ठियाँ
जन्म

569 हिज़री/1196 ईस्वी

19 रबि अल-अब्बल
हैरात, अफगानिस्तान
निधन

690 हिज़री/1291 ईस्वी

11 रबि अल-अब्बल
पिरान कालियार शरीफ, रुड़की , भारत
पद तैनाती
कर्मभूमि पिरान कलियर शरीफ, रुड़की
उपदि صابر پیاसाबिर पिया
पूर्वाधिकारी बाबा फरीद
उत्तराधिकारी शमसुद्दीन तुर्क पानीपती, हैदर शाह पानीपति
धार्मिक जीवनकाल
पद सूफीवाद

मखदूम अलाउद्दीन अली अहमद साबिर; Makhdoom Alauddin Ali Ahmed Sabir: (صابر پیا‎ साबिर पिया) जिन्हें अलाउद्दीन सबिर कलियरी या कलियर संत") के रूप में भी जाना जाता है, 13 वीं शताब्दी में एक प्रमुख दक्षिण एशियाई सूफी संत थे। वह बाबा फरीद (1188-1280), [2]के उत्तराधिकारी और चिश्ती आदेश के सबरीया शाखा में सबसे पहले थे। इनकी दरगाह (सूफी मकबरा) हरिद्वार के निकट पिरान कलियर शरीफ गांव में है।

कलियर शरीफ दरगाह,रुड़की, उत्तराखंड

टिप्पणी[संपादित करें]

Sabir Piya अंग्रेजी में

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Faizan e Hazrat Sabir Pak Kaliyar Sharif
  2. Sheikh Farid, by Harbhajan Singh (poet)|Dr. Harbhajan Singh. Hindi Pocket Books, 2002. ISBN 81-216-0255-6. Page 11.