अरिजीत सिंह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अरिजीत सिंह

अरिजीत सिंह "एबेला एमी अमर मोटो सम्मान पुरस्कार २०१३" में
पृष्ठभूमि की जानकारी
जन्म 25 अप्रैल 1987 (1987-04-25) (आयु 32)
मुर्शिदाबाद, पश्चिम बंगाल, भारत
शैली पार्श्वगायक
व्यवसाय गायक, संगीतकार
वाद्य यन्त्र गिटार और अरेंजर और प्रोग्रामर, गायक, सहायक संगीत संगीतकार
सक्रिय वर्ष 2007 - वर्तमान


अरिजीत सिंह (बंगाली;অরিজিৎ সিং) जन्म २५ अप्रैल १९८७)[1] एक भारतीय पार्श्व गायक हैं।[2] इनका जन्म पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में हुआ था। इन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत २००५ में एक वास्तविक कार्यक्रम फेम गुरुकुल से की थी। इनका नाम जब प्रसिद्ध हुआ जब इन्होंने २०१३ में आशिकी 2 फ़िल्म में तुम ही हो गाना गाया था। इस कारण इनको ५९वां फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार में सबसे अच्छा पुरुष गायक चुना गया था। इनके अलावा इन्होंने किल दिल में भी ऐसा ही गाना गाया था जो सजदे नाम था। जनवरी २०१६ में ६१वां फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार इनका सूरज डूबा है गाना जो रॉय फ़िल्म में गाया था इन्हें सबसे अच्छा गाना चुना गया। इन्हें वर्ष 2018 में रोके न रुके नैना गाने के लिए भी फ़िल्म फ़ेयर अवार्ड दिया गया है। सिंह का संगीत कैरियर तब शुरू हुआ जब उनके गुरु राजेंद्र प्रसाद हजारी ने महसूस किया कि "भारतीय शास्त्रीय संगीत एक मरती हुई परंपरा थी", उन्होंने जोर देकर कहा कि वह अपने गृहनगर छोड़ दें और 18 साल की उम्र में रियलिटी शो फेम गुरुकुल (2005) में भाग लें।[3][4] उन्होंने कार्यक्रम के फाइनल में प्रवेश किया लेकिन दर्शकों के मतदान से बाहर हो गए, छठे स्थान पर रहे।[5]

करियर[संपादित करें]

प्रारम्भिक करियर[संपादित करें]

सिंह का संगीत कैरियर तब शुरू हुआ जब १८ वर्ष की उम्र में वह अपने गुरु, राजेंद्र प्रसाद हजारी, के जोर देने पर अपने गृहनगर को छोड़ कर चले आये, और रियलिटी शो फेम गुरुकुल (२००५) में भाग लिया। हालाँकि शो पर वह छठे स्थान पर रहे। शो के दौरान, फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और उन्हें अपनी आने वाली फिल्म साँवरिया में "यूं शबनमी" गीत गाने के लिए कहा। परन्तु फ़िल्म निर्माण के दौरान उसकी पटकथा बदल गई और फ़िल्म में गीत की आवश्यकता ही नहीं रही, और इस कारण इसे कभी जारी नहीं किया गया था। फेम गुरुकुल के बाद, टिप्स म्यूज़िक के प्रमुख, कुमार तौरानी ने उन्हें एक एल्बम के लिए साइन किया, लेकिन वह भी कभी रिलीज़ नहीं हो पायी।

इसके बाद उन्होंने एक और रियलिटी शो, १० के १० ले गए दिल में भाग लिया, और शो के विजेता रहे। ​​२००६ में उन्होंने मुम्बई का रुख किया, और शहर के लोखंडवाला क्षेत्र में किराए के कमरे में रहने लगे। यहाँ उन्होंने १० के १० ले गए दिल धारावाहिक से मिली १० लाख रुपये की पुरस्कार राशि का निवेश कर अपने रिकॉर्डिंग स्टूडियो का निर्माण किया। वह एक संगीत निर्माता बन गए, और उन्होंने विज्ञापन, समाचार चैनलों और रेडियो स्टेशनों के लिए संगीत की रचना शुरू कर दी। सिंह ने अपने शुरुआती संगीत कैरियर में शंकर-एहसान-लॉय, विशाल-शेखर, मिथुन शर्मा, मोंटी शर्मा और प्रीतम चक्रवर्ती जैसे संगीत निर्देशकों के लिए संगीत निर्माता के रूप में काम किया। अन्य संगीतकारों के साथ काम करते हुए तो वह मुख्यतः गायकों और कोरस खंडों का पर्यवेक्षण करते थे, लेकिन प्रीतम के साथ काम करते हुए उन्होंने खुद ही संगीत तैयार करना शुरू कर दिया था।

२०१०–२०१३: गायन में प्रवेश तथा आशिकी २[संपादित करें]

२०१३ में एक पुरस्कार समारोह में प्रदर्शन करते सिंह

२०१० में, सिंह ने प्रीतम के साथ तीन फिल्मों- गोलमाल ३, क्रूक और एक्शन रिप्ले में काम करना शुरू किया। इसी वर्ष उन्होंने तेलुगु फिल्म केडी के साथ तेलुगू फिल्म उद्योग में सन्दीप चौटा के "नीवे ना नीवे ना" गीत के साथ गायन की शुरुआत की। २०११ में, सिंह ने मिथुन द्वारा रचित मर्डर २ फ़िल्म के गीत "फिर मोहब्बत" से बॉलीवुड में एक गायक के रूप शुरुआत की, हालांकि उन्होंने इसे २००९ में ही रिकॉर्ड कर दिया था। उसी वर्ष, जब वह एजेंट विनोद (२०१२) के गीत "राब्ता" के लिए प्रोग्रामिंग कर रहे थे, तो प्रीतम ने उन्हें इसे गाने के लिए भी कहा। गीत के सभी चार संस्करणों में उनके गाये हुए भाग को बरकरार रखा गया था, और उनमें से एक संस्करण में उन्होंने पूरी रचना को गाया था। एजेंट विनोद के अलावा, अरिजीत ने उस वर्ष रिलीज़ हुई तीन अन्य फ़िल्मों में भी प्रीतम के लिए गायन किया: प्लेयर्स, बर्फी! और कॉकटेल

उन्होंने १९२०: एविल रिटर्न्स में चिरन्तन भट्ट के लिए "उसका ही बनाना" गीत गाया। ग्लैमशैम ने इस गीत की समीक्षा में लिखा कि अरिजीत ने गीत को बेहद भावुक और भावनात्मक रूप से ऊँची पिच पर गाया। उन्होंने फिल्म शंघाई में विशाल-शेखर की रचना "दुआ" को गाया। इसने उन्हें आगामी पुरुष पार्श्व गायक पुरस्कार का मिर्ची संगीत पुरस्कार जीता। उन्हें बर्फी के गीत "फिर ले आया दिल" के लिए भी इसी श्रेणी में नामांकित किया गया था। अरिजीत को व्यापक सफलता २०१३ की फ़िल्म आशिकी २ से मिली, जिसकी एल्बम के लिए उन्होंने ६ गीत गाये। फिल्म का शीर्षक गीत "तुम ही हो" विशेषकर प्रसिद्ध हुआ, और इस गीत के लिए उन्हें कई पुरस्कार प्राप्त हुए, जिसमें सर्वश्रेष्ठ पार्श्वगायक के लिए फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार भी शामिल था।

अरिजीत ने प्रीतम के साथ काम जारी रखा और ये जवानी है दीवानी फ़िल्म के लिए "दिल्लीवाली गर्लफ्रेंड", "कबीरा" और "इलाही" गीत गाये, जबकि "कबीरा" और "बलम पिचकारी" गीतों पर उन्होंने संगीत निर्माता के तौर पर काम किया। प्रीतम के लिहे उन्होंने २ गीत और गाये - फटा पोस्टर निकला हीरो का "मैं रंग शरबतों का", और आर... राजकुमार का "धोका धड़ी"। उन्होंने चेन्नई एक्सप्रेस के गीत "कश्मीर मैं तू कन्याकुमारी" में शाहरुख खान के लिए गाया, जिसे विशाल-शेखर ने संगीतबद्ध किया था। नीती मोहन के साथ बॉस के "हर किसी को" के युगल संस्करण को प्रस्तुत करने के अलावा, सिंह ने जैकपॉट के "कभी जो बादल बरसे" गीत पर शारिब-तोशी के साथ और गोलियों की रासलीला: राम-लीला से अर्द्ध शास्त्रीय गीत, "लाल इश्क" पर संजय लीला भंसाली के साथ काम किया। बाद में, सिंह ने "कभी जो बादल बरसे" को अपने व्यक्तिगत पसंदीदा गीतों में से एक के रूप में चुना, जबकि उन्होंने मिकी वायरस के "तोसे नैना" को "अपने दिल के सबसे करीब" चुना।

२०१४–२०१६[संपादित करें]

२०१४ में, सिंह को अपने दो पसंदीदा संगीत निर्देशकों, साजिद-वाजिद और ए आर रहमान के साथ काम करने का मौका मिला। उन्होंने साजिद-वाजिद के लिए मैं तेरा हीरो में दो गीत और हीरोपंती में एक गीत, "रात भर" गया, जबकि ए आर रहमान के लिए "दिल चस्पियॉँ" शीर्षक से "मेधुवागथाथन" गीत के हिंदी संस्करण को डब किया। इसके अतिरिक्त उस वर्ष उन्होंने अमित त्रिवेदी के लिए "हंगामा हो गया", प्रीतम के लिए यारियां का "लव मी थोड़ा और", शारिब-तोशी के लिए हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया का "समझावाँ", शंकर-एहसान-लॉय के लिए २ स्टेट्स का "मस्त मगन", सोहेल सेन के लिए गुंडे का "जिया", और अर्को प्रावो मुखर्जी के लिए हेट स्टोरी २ का "आज फिर" गीत गया। सिंह ने विशाल भारद्वाज के साथ हैदर के दो गीतों की रिकॉर्डिंग की और हैप्पी एंडिंग में "जैसे मेरा तू" पर सचिन-जिगर के साथ काम किया। इस वर्ष उन्होंने टोनी कक्कर और पलाश मुच्छल सहित कई अन्य संगीत निर्देशकों के साथ भी काम किया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Arijit Singha's Biography
  2. "Arijit to sing in Spyro Gyra's next album". द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया. ७ जून २०११.
  3. "ज़ूम४इंडिया".
  4. http://www.forbesindia.com/article/2014-celebrity-100/the-rise-and-rise-of-arijit-singh/39203/0. गायब अथवा खाली |title= (मदद)
  5. http://www.forbesindia.com/article/2014-celebrity-100/the-rise-and-rise-of-arijit-singh/39203/0. गायब अथवा खाली |title= (मदद)