रखाइन राज्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(अराकान से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
रखाइन राज्य
ရခိုင်ပြည်နယ်
Rakhine State
मानचित्र जिसमें रखाइन राज्यရခိုင်ပြည်နယ်Rakhine State हाइलाइटेड है
सूचना
राजधानी : सितवे (Sittwe)
क्षेत्रफल : ३६,७७८.० किमी²
जनसंख्या(२०१४):
 • घनत्व :
३१,८८,८०७
 ८७/किमी²
उपविभागों के नाम: ज़िले
उपविभागों की संख्या:  ?
मुख्य भाषा(एँ): अराकानी, बर्मी


रखाइन राज्य (बर्मी: ရခိုင်ပြည်နယ်) बर्मा के दक्षिण-पश्चिम में स्थित एक राज्य है। यह बंगाल की खाड़ी के साथ तटवर्ती है और पश्चिमोत्तर में बांग्लादेश से सीमावर्ती है।[1]

विवरण[संपादित करें]

यह बंगाल की खाड़ी के पूर्वी तट पर चटगांव (चिटागांग) से नेग्रेस अंतरीप तक विस्तृत है। इस प्रदेश का प्रधान नगर अकयाब है। प्रांत चार जिलों में विभक्त है।

चार मुख्य नदियाँ नाफ, मायू, कलदन और लेमरो हैं। कलदन गहरी है और इसमें छोटे जहाज 50 मील भीतर तक जा सकते हैं अन्य नदियाँ बहुत छोटी हैं, क्योंकि वे पहाड़ जिनसे ये निकली हैं, समुद्र के निकट हैं। पर्वत को पार करने के लिए कई दर्रे (पास) हैं।

प्रदेश पहाड़ी है और केवल दशम भूभाग में खेती हो पाती है। मुख्य फसल धान है। फल, तंबाकू, मिरचा आदि भी उत्पन्न किए जाते हैं। जंगल भी हैं, परंतु वर्षा इतनी अधिक (औसतन 120 से 130 इंच तक) होती है कि सागवान यहाँ नहीं हो पाता।

अराकानवासियों की सभ्यता अति प्राचीन है। लोकोक्ति के अनुसार 2,666 ई. पू. से आज तक के सभी राजाओं के नाम ज्ञात हैं। कभी मुगल और कभी पुर्तगाली लोगों ने कुछ भागों पर अधिकार जमा लिया था, परंतु वे शीघ्र ही मार भगाए गए। सन्‌ 1826 से यहाँ अंग्रेजी राज्य रहा। जनवरी, सन्‌ 1948 से म्यांमार पुन: स्वतंत्र हो गया और अब वहाँ गणतंत्र राज्य है। अराकान का प्रधान नगर पहले अराकान था, परंतु अस्वास्थ्यप्रद होने के कारण अब अकयाब प्रधान नगर हो गया है।

अराकाननिवासियों की देशी भाषा और रस्मरिवाजों में अन्य बरमानिवासियों से पर्याप्त भिन्नता है, परंतु ये भी बौद्धधर्म के ही अनुयायी हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Maung Htin Aung (1967). A History of Burma. New York and London: Cambridge University Press