अब्दुल हमीद द्वितीय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
द्वितीय अब्दुल हमीद
السلطان عبد الحميد الثاني
इस्लाम के ख़लीफ़ा
अमीरुल मुमिनीन
उस्मानी साम्राज्य के सुल्तान
कैसर-ए रूम
ख़ादिम उल हरमैन अश्शरीफ़ैन
26वें उस्मानी सुल्तान (बादशाह)
शासन 31 अगस्त 1876 – 27 अप्रैल 1909
राज्याभिषेक 7 सितम्बर 1876
पूर्वाधिकारी मुराद पंचम
उत्तराधिकारी महमद पंचम
इस में
1828–1908
शाही ख़ानदान उस्मानी
पिता अब्दुल मजीद प्रथमI
माता जैविक माँ:
तिरिमुझ़्गान क़ादन
दत्तक माँr:
परस्तु क़ादन
जन्म 21 सितम्बर 1842 [1][2]
तोपकापी महल, क़ुस्तुंतुनिया, उस्मानियाe
मृत्यु 10 फ़रवरी 1918(1918-02-10) (उम्र 75)
बेयलेरबेय महल, क़ुस्तुंतुनिया, उस्मानिया
कब्र फ़ातिह, इस्तांबुल
हस्ताक्षर
धर्म सुन्नी इस्लाम

अबुल हमीद द्वितीय (उस्मानी तुर्कीयाई : عبد الحميد ثانی, `Abdü’l-Ḥamīd-i sânî; तुर्कीयाई : İkinci Abdülhamit; 21 सितम्बर 1842 - 10 फ़रवरी 1918) उस्मानी साम्राज्य के 34वें सुल्तान और आख़िरी शासक थे जिन्होंने बिगड़ती जा रही उस्मानी हुकूमत पर प्रभावी नियंत्रण रखा।[3] उनके दौर में उस्मानिया का पतन किया जा रहा था, ख़ासकर बालक़न के इलाक़ों में; रूस के साथ भी एक असफल युद्ध हुआ था। उन्होंने 31 आगस्त 1876 से 27 अप्रैल 1909 तक शासन किया, जब तक जवान तुर्क आंदोलन ने उनका तख़्त पलट कर दिया था। जवान उस्मानी आंलोलन की वजह से उन्होंने 1876 में प्रथम उस्मानी संविधान का प्रख्यापन किया।[4] यह उनके शुरूआती दौर में प्रगतिशील चिंतन की निशानी थी। लेकिन बाद में उस्मानी मामलों में पश्चिमी शक्तियों की दख़लअंदाज़ी को देखकर, उन्होंने 1878 में दोनों संसद और संविधान का विघटन किया।[4]

उनके दौर में उस्मानी साम्राज्य का आधुनिकीकरण हुआ था। रुमेलिया रेलवे और अनातोलिया रेलवे का विस्तार हुआ था और बग़दाद और हिजाज़ रेलवे का निर्माण किया गया था। आबादी पंजीकरण के लिए एक प्रणाली की स्थापना की गई थी और साथ ही साथ 1898 में प्रथम आधुनिक क़ानून विद्यालय की शुरूआत हुई। सबसे महत्वपूर्ण यह था कि बहुत सारे पेशेवर विद्यालय स्थापित हुए - जैसे कि क़ानून विद्यालय, कला विद्यालय, व्यापार विद्यालय, सिविल इंजीनियरिंग विद्यालय, पशुचिकित्सा विद्यालय, खेतीबाड़ी विद्यालय, भाषा विगज्ञान विद्यालय, इत्यादि। इस्तांबुल विश्वविद्यालय अब्दुल हमीद द्वारा 1881 में बंद किये जाने के बावजूद, फिर से 1900 में खोला गया और पूरे साम्राज्य में माध्यमिक, प्राथमिक, और सैन्य पाठशालाओं की स्थापना हुई।[4] रेलवे और टेलीग्राफ़ प्रणालियाँ आम तौर पर जर्मन कंपनियों द्वारा विकसित हुए थे। उनके दौर में उस्मानी साम्राज्य दिवालिया हो गया और 1881 में उस्मानी लोक ऋण प्रशासन की स्थापना हुई।

विदेश में अब्दुल हमीद को "लाल सुल्तान" या "शापित अब्दुल" के नामों से जाना जाता था क्योंकि उनके दौर में कई मौक़ों पर अल्पसंख्यकों का संहार किया जा रहा था और असंतुष्टि और गणतंत्रवाद को ख़ामोश करने के लिए ख़ुफ़िया पुलिस का इस्तेमाल किया जा रहा था।[5][6] 1905 में किसी ने इनकी हत्या करने का प्रयास किया था। इसकी वजह से आहिस्ता-आहिस्ता अब्दुल हमीद की मानसिक सेहत बिगड़ने लगी थी, जब तक आख़िर में वह तख़्त से हटा दिया गया था।[7]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. “Abdulhamid II”। Encyclopedia Britannica (15th) I: A-ak Bayes: 22। (2010)। Chicago, IL: Encyclopedia Britannica Inc.।
  2. Some sources state that his birth date was on 22 September.
  3. Overy, Richard pp. 252, 253 (2010)
  4. "Abdulhamid II | biography - Ottoman sultan". अभिगमन तिथि 2015-09-29.
  5. "Sultan beaten, capital falls, 6,000 are slain". The New York Times. 25 April 1909.
  6. Vahan Hamamdjian (2004). Vahan's Triumph: Autobiography of an Adolescent Survivor of the Armenian Genocide. iUniverse. पृ॰ 11. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-595-29381-0.
  7. Razmik Panossian (13 August 2013). The Armenians: From Kings and Priests to Merchants and Commissars. Columbia University Press. पृ॰ 165. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-231-13926-7.