अबू अली इब्न मुहम्मद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
अबू अली इब्न मुहम्मद
मलिक ग़ोरी राजवंश
शासनावधि1011-1035
पूर्ववर्तीमुहम्मद इब्न सूरी
उत्तरवर्तीअब्बास इब्न शिथ
जन्ममकान
निधन1035
घरानाग़ोरी राजवंश
पितामुहम्मद इब्न सूरी
धर्मसुन्नी इस्लाम

अबू अली इब्न मुहम्मद (फारसी: ابو علی بن محمد) ग़ोरी राजवंश के राजा थे। उन्होंने अपने पिता मुहम्मद इब्न सूरी को 1011 में उत्तरार्द्ध के बाद गजनी के महमूद द्वारा पदच्युत कर दिया था, जिन्होंने तब इस्लाम में इस्लाम के बारे में पढ़ाने के लिए शिक्षक भेजे थे। अबू अली उन लोगों में से एक था, जो उस अवधि में इस्लाम में परिवर्तित हो गए थे। बौद्ध धर्म से इस्लाम में उनके रूपांतरण के बाद,[1] उन्होंने मस्जिदों और मदरसों का निर्माण शुरू किया। सीए में। 1035, अबू अली को उसके भतीजे अब्बास इब्न शिथ ने उखाड़ फेंका।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Medieval India Part 1 Satish Chandra Page 22
  2. History of Civilizations of Central Asia, C.E. Bosworth, M.S. Asimov, p. 185.

स्रोत[संपादित करें]

  • C. Edmund, Bosworth। (2001)। "GHURIDS". Encyclopaedia Iranica, Online Edition। अभिगमन तिथि: 5 January 2014
  • Bosworth, C. E. (1968). "The Political and Dynastic History of the Iranian World (A.D. 1000–1217)". प्रकाशित Frye, R. N. (संपा॰). The Cambridge History of Iran, Volume 5: The Saljuq and Mongol periods. Cambridge: Cambridge University Press. पपृ॰ 1–202. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-521-06936-X.
पूर्वाधिकारी
मुहम्मद इब्न सूरी
मलिक ग़ोरी राजवंश
1011–1035
उत्तराधिकारी
अब्बास इब्न शिथ