अन्तरराष्ट्रीय वाणिज्य मण्डल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अन्तरराष्ट्रीय वाणिज्य मण्डल (International Chamber of Commerce—ICC) विश्व का सबसे बड़ा और सर्वाधिक प्रतिनिधित्व वाला वाणिज्य संगठन है। इसकी स्थापना १९१९ में हुई थी।

उद्देश्य
  • (क) मुक्त व्यापार और निजी उद्यम को प्रोत्साहित करना, तथा;
  • (ख) प्रायोगिक सेवाएं (practical services) प्रदान करना और सरकारी एवं अंतर-सरकारी स्तरों पर व्यापार हितों का प्रतिनिधित्व करना।

संरचना[संपादित करें]

अन्तरराष्ट्रीय वाणिज्य मण्डल के अन्तर्गत परिषद्, कार्यकारी बोर्ड, राष्ट्रीय समितियां और समूह, कांग्रेस सम्मेलन और अंतरराष्ट्रीय सचिवालय सम्मिलित हैं। आईसीसी का शासी निकाय परिषद है, जिसकी प्रत्येक वर्ष दो बैठकें होती हैं। शासी निकाय के सदस्य राष्ट्रीय समितियों द्वारा मनोनीत होते हैं। शासी निकाय दो वर्ष के लिये सभापति और उप-सभापति का चुनाव करता है। कार्यकारी बोर्ड में 15-30 सदस्य होते हैं, जो परिषद के द्वारा तीन वर्ष के लिये चुने जाते हैं। बोर्ड के सदस्य आईसीसी की विभिन्न गतिविधियों में समन्वय स्थापित करने के उद्देश्य से वर्ष में कम-से-कम तीन बैठकें करते हैं। राष्ट्रीय समितियां और समूह अपने-अपने राष्ट्रीय घटकों से जुड़े विषयों का विश्लेषण करते हैं तथा आईसीसी की नीतियों की ओर लोगों तथा सरकार का ध्यान खींचते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]