अनुप्रयुक्त नीतिशास्त्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अनुप्रयुक्त नीतिशास्त्र निजी और सार्वजनिक जीवन के विशिष्ट मुद्दों का, नैतिक दृष्टिकोण से, दार्शनिक परिक्षण हैं, जो नैतिक जजमेन्ट के मामले हैं। अतः, ये, रोजमर्रा के जीवन में अलग़-अलग़ क्षेत्रों में नैतिक रूप से सही कार्य-मार्ग पहचानने हेतु दार्शनिक पद्धतियों का उपयोग करने के प्रयास हैं। उदाहरणार्थ, जीव विज्ञान - जैसे कि यूथनेसिया, दुर्लभ स्वास्थ्य संसाधनों का आवंटन, अथवा संशोधन में मानवी भ्रूण का इस्तेमाल - इन में विधिक मुद्दों के लिए सही दृष्टिकोण को पहचानने से जैवनीतिशास्त्र समुदाय की चिन्ता हैं।